अजवायन का पौधा बारहमासी जड़ी बूटी है. अजवायन के स्वाद वाले पत्ते और फूल दोनों ही चाय और खानें के व्यंजनों में उपयोग किए जाते हैं. इस की खुरदरी बनावट वाली पत्तियां औषधीय होती हैं. इस पौधे की पत्तियां गले में खराश, खांसी, अस्थमा, अपच, पेट में ऐंठन सहित विभिन्न बीमारियों का इलाज करती हैं. आइए जानते हैं पौधा कैसे लगाए.

यह भी पढ़ेंः Gardening Tips: जानें घर में धनिया उगाने का आसान तरीका

गमले में लगाने से पहले मिट्टी में 1 कप रेत, कोको पीट, और गोबर को मिक्स कर दें. गोबर कंपोस्ट(चायपत्ती कंपोस्ट) का काम करेगा और इससे पौधा हेल्दी तरीके से ग्रो करेगा. अगर आप रेत की जगबलुई दोमट मिट्टी का उपयोग करें तो बेस्ट होगा. ध्यान रखें कि अजवायन में अधिक खाद इस्तेमाल करने की आवश्यकता नहीं है. जब पौधा ग्रो करने लगे तो नियमित धूप दिखायें और पानी का छिड़काव करें. वहीं आपको शुरुआत में पौधे को सिर्फ 2 घंटे के लिए ही धूप में रखना है, फिर इसे अंदर छांव में लाकर रख दें.

यह भी पढ़ेंः Gardening Tips: बागवानी के लिए आपके पास जरूर होने चाहिए ये पांच उपकरण

बारिश का मौसम अजवायन के पौधे को लगाने के लिए उपयुक्त समय है. दरअसल बारिश के मौसम में गर्माहट और ठंडक दोनों रहती है जो पौधे के लिए अच्छी होती है. हालांकि गर्मी में इसे लगाने में थोड़ी मुश्किलें आती हैं. जब अजवाइन का पौधा हल्का बड़ा हो जाए तो इसे चौड़े गमले में शिफ्ट कर दें, ताकि यह आसानी से ग्रो कर सके. बता दें कि कुछ लोग इसकी पत्तियों को पकौड़े बनाने के लिए भी इस्तेमाल करते हैं, ऐसे में आप पत्तियों को जब भी तोड़ें, नीचे से तोड़ें. ऊपर से तोड़ने से इनकी ग्रोथ रुक सकती है. वहीं अजवाइन के पौधे का दाना गर्मी में पकना शुरू हो जाता है. अजवाइन की पत्ती पूरे 150 दिन में पककर तैयार हो जाती है. तब तक आपको पौधे का ख्याल रखना होगा.

यह भी पढ़ेंः स्नेक प्लांट क्या है? जान लें गार्डन में इसे लगाने के फायदे

कटाई और भंडारण

फूल और पत्ते दोनों ही रसोई में उपयोग में लाए जाते हैं और ये पौधा 6-7 सप्ताह के बाद कटाई के लिए तैयार हो जाता हैं. मॉनसून और गर्मियों के दौरान आप कैंची का उपयोग करके ताजी पत्तियों को काट सकते हैं. आप खाना पकाने या चाय बनाने में ताजे पत्तों और फूलों का उपयोग कर सकते हैं. बाद में खपत के लिए उन्हें स्टोर करने से बचें.

यह भी पढ़ेंः घर के CO2 को ऑक्सीजन में बदलता है Snake Plant, लगाने का आसान तरीका सीखें