तंग अपार्टमेंट, छोटे यार्ड या किराए के घरों को अपने सपनों के बगीचे को विकसित करने से न रोकें! ऐसे कई तरीके हैं जिनसे थोड़ी सी जगह में भी आप एक अच्छा बगीचा तैयार कर सकतें हैं. हाल के वर्षों में छोटे बगीचों में बड़ी वृद्धि देखी गई है.छत के बगीचों से लेकर शहरी घरों तक, लोग अपने भोजन की आपूर्ति पर नियंत्रण वापस ले रहे हैं. रचनात्मक बागवानी तकनीकों के माध्यम से, लोग अपने परिवार का भरण-पोषण करने के लिए एक छोटे से सब्जी के बगीचे में पर्याप्त भोजन उगा रहे हैं, जिससे छोटी जगहों पर अधिक पैदावार हो रही है.

यह भी पढ़ेंः Gardening Tips: पौधों को हरा-भरा रखने के लिए करें गार्डन में हींग का इस्तेमाल

छोटे फलों/सब्जियों के बगीचों से लेकर कॉम्पैक्ट जगहों पर अपने पसंदीदा फूलों को उगाने तक, हमारे पास आपके लिए कुछ टिप्स हैं,आएँ शुरू करें!

1. पौधों की ट्रिमिंग जरूरी

पौधों की ट्रिमिंग बहुत महत्वपूर्ण है ताकि उनका पार्श्व विकास हो. अगर तुलसी जैसा झाड़ीदार पौधा हो तो उसके लिए ट्रिमिंग बहुत जरूरी हो जाती है. यदि आपके पौधे ने लंबे समय से कोई वृद्धि नहीं दिखाई है, तो इसे तुरंत इनकी ट्रिमिंग करें. इसे आप 30-45 दिनों में एक बार भी कर सकते हैं.

यह भी पढ़ेंः 5 हाउसप्लांट जो रखें आपको फिजिकली और मेंटली स्ट्रांग, आज ही लगाएं घर में

2.घर के अंदर लगाए जाने वाले पौधों में खाद डालें

यदि आपके पास एक बाहरी बगीचा है, तो 1-2 महीने में उर्वरक (खाद) आवेदन किया जाता है, लेकिन कम जगह में उगाए गए इनडोर पौधों को अधिक उर्वरक की आवश्यकता होती है. इनडोर पौधों में, आपको हमेशा मिट्टी को ढीला करने के बाद ही उर्वरक लगाना चाहिए.हर 20-30 दिनों में ये काम करें. फर्टिलाइजर की मात्रा बहुत ज्यादा न लें, ये गमले के साइज के हिसाब से ही होगा. इनडोर प्लांट्स को कम मिट्टी में ही सारे न्यूट्रिएंट्स चाहिए होते हैं और वो ऐसे ही किया जा सकेगा.

यह भी पढ़ेंः Gardening Tips: आपके गार्डन के पौधों में लगे हैं सफेद कीड़े तो ऐसे करें उपाय

 

पौधों को पानी देने का समय भी सही होना चाहिए. अगर आप पौधों में शाम को पानी डालते हैं तो कम धूप के कारण वो रात भर पानी से भरे रहेंगे. ऐसे में उनकी जड़ें सड़ सकती हैं. इनडोर प्लांट्स की जड़ें वैसे भी कमजोर होती हैं इसलिए उन्हें सुबह पानी देना बेहतर होगा. अगर आपने छोटी सी बालकनी जैसे हिस्से में पौधे लगा रखे हैं तब तो शाम को पानी देने से बचिए. छोटी जगह में पानी इकट्ठा होने से उस जगह से मच्छरों के आने की संभावना बढ़ जाएगी.

यह भी पढ़ेंः Gardening Tips: घर के गार्डन में आसानी से उगाएं ब्रोकली, होता है फायदेमंद