बीसीसीआई के अध्यक्ष और भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली की हालत स्थिर है और उनके स्वास्थ्य संबंधी सभी मानक सामान्य हैं. अस्पताल से जुड़े एक डॉक्टर ने मंगलवार को बताया. गांगुली को दिल का हल्का दौरा पड़ने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उनकी एंजियोप्लास्टी की गयी.

जाने माने हृदयरोग विशेषज्ञ डॉ. देवी शेट्टी मंगलवार को कोलकाता पहुंचे. डॉ. शेट्टी के गांगुली से मिलने के बाद उनका उपचार कर रहे नौ डॉक्टरों की टीम से मिलने की संभावना है. इसके बाद उनके आगे के उपचार और फिर अस्पताल से छुट्टी दिए जाने पर विचार होगा. निजी अस्पताल के डॉक्टर सोमवार को इस राय पर पहुंचे थे कि गांगुली (48) को बुधवार को अस्पताल से छुट्टी दी जा सकती है. शनिवार को गांगुली की रिपोर्ट में हृदय से संबंधित ‘ट्रिपल वेसेल डिजीज’ का पता चला. उनके हृदय की तीन कोरोनरी धमनियां अवरूद्ध हो गयी हैं. उनकी दूसरी एंजियोप्लास्टी बाद में होने की संभावना है.

वुडलैंड अस्पताल के डॉक्टर ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया, ‘‘श्री गांगुली की स्थिति स्थिर और अच्छी है. पिछली रात उन्होंने अच्छी नींद ली और उन्हें स्वास्थ्य संबंधी कोई दिक्कत नहीं हुई. उनके स्वास्थ्य संबंधी सभी मानक सामान्य हैं. हमलोग उन पर लगातार नजर बनाए हुए हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘डॉ. शेट्टी मंगलवार सुबह यहां पहुंच गए. वह उनकी (गांगुली की) स्वास्थ्य की स्थिति पर नजर रखेंगे और उनका उपचार कर रही टीम से मिलेंगे. वह फैसला करेंगे कि उनकी अगली एंजियोप्लास्टी कब की जाएगी.’’

इस बीच अस्पताल प्रशासन ने उनके स्वास्थ्य की जानकारी देने के लिए ‘सौरव गांगुली लाउंज’ बनाया है. वुडलैंड अस्पताल की एमडी एवं सीईओ डॉ. रूपाली बसु ने कहा, ‘‘हम लोगों को उनके पास नहीं जाने दे सकते. कोविड-19 को देखते हुए लाउंज आने वाले लोगों के साथ स्वच्छता एवं साफ सफाई के सभी मानकों का पालन किया जा रहा है.’’