कोलकाता, 25 मई (भाषा) पश्चिम बंगाल सरकार ने मंगलवार को वित्त मंत्री सीतारमण से कोविड- 19 के इलाज में काम आने वाले उपकरणों, दवाओं और टीके पर सीमा शुल्क और जीएसटी से छूट दिये जाने का आग्रह किया है।

सीतारमण को भेजे एक पत्र में राज्य के वित्त मंत्री अमित मित्रा ने माल एवं सेवाकर (जीएसटी) परिषद की बहुपतिक्षित 43वीं बैठक बुलाये जाने के लिये उनका धन्यवाद किया।

मित्रा ने पत्र में कहा, ‘‘मेरा प्रस्ताव है कि परिषद कोविड के इलाज में काम आने वाले तमाम उपकरणों, सामग्री, दवाओं और टीके पर शून्य दर से कर लगाने को लेकर राजी होगी। इससे विनिर्माताओं और उनकी पूरी आपूर्ति श्रृंखला के उद्यमियों को इनपुट टैक्स क्रेडिट लेने की अनुमति होगी। इससे उपभोक्ताओं के लिये इन सामानों के मूल्य पर बुरा प्रभाव भी नहीं होगा।’’

उन्होंने यह भी कहा कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने 9 मई को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर उनसे कोविड महामारी के खिलाफ लड़ाई में इस्तेमाल होने वाले सभी तरह के उपकरणों और दवाओं पर सभी तरह के कर और सीमा शुल्क हटाने का आग्रह किया था।

मित्रा ने उम्मीद जताई कि जीएसटी परिषद मौजूदा संकट के समाधान के लिये रास्ते में आने वाली तकनीकियों और नौकरशाही अड़चनों से आगे बढ़कर काम करेगी। इस समय पूरा देश राहत पाने के लिये परिषद की तरफ नजरें लगाये हुये है।

केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जीएसटी परिषद की अध्यक्ष हैं जबकि सभी राज्य और संघ शासित प्रदेशों के प्रतिनिधि भी इसमें शामिल हैं। परिषद की 28 मई को बैठक बुलाई गई है।

इससे पहले मित्रा ने 12 मई को वित्त मंत्री को पत्र लिखकर जीएसटी परिषद की आनलाइन बैठक बुलाये जाने का आग्रह किया था।

भाषा

महाबीर मनोहर

मनोहर