मुंबई, 22 मई (भाषा) ट्रक-ट्रांसपोर्टरों के संगठन ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस (एआईएमटीसी) ने शनिवार को कहा कि केंद्र सरकार ने महामारी के बीच तरल ऑक्सीजन की ढुलाई में लगे टैंकर चालकों को टीकाकरण में प्राथमिकता देने की उसकी मांग स्वीकार कर ली है।

संगठन ने इस महीने के शुरु में वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ एक बैठक के दौरान यह मांग की थी।

एआईएमटीसी की कोर कमिटी के चैयरमैन बी एम सिंह ने शनिवार को एक बयान में कहा, 'सड़क और राजमार्ग मंत्रालय ने एआईएमटीसी की मांग पर ध्यान देते हुए सभी राज्यों के परिवहन सचिवों से तरल ऑक्सीजन टैंकर के चालकों के लिए 'विशेष टीकाकरण अभियान' चलाने की अपील की है।'

उन्होंने कहा कि मंत्रालय ने सभी राज्यों से यह अपील भी की कि वे इस तरह के चालकों को कोविड-19 होने पर उन्हें अस्पतालों में भर्ती करने एवं इलाज के लिए प्राथमिकता दें।

बयान के अनुसार ऑक्सीजन टैंकर के चालकों के लिए भत्ते की मांग पर भी विचार किया जा रहा है और 'सरकार हर ऑक्सीजन टैंकर चालक को उसकी सेवा के लिए करीब 15,000 रुपए का वित्तीय भत्ता देने के प्रस्ताव पर विचार कर रही है।'

संगठन ने कहा, 'हालांकि (इस विषय को लेकर) अब तक कोई फैसला नहीं लिया गया है।'

बयान के अनुसार एआईएमटीसी ने साथ ही सरकार से दवाओं, चिकित्सीय सहायता एवं दूसरी जरूरी चीजों सहित आवश्यक आपूर्तियों के परिवहन में लगे व्यावसायिक वाहनों के चालकों को टीकाकरण में प्राथमिकता देने की मांग की ताकि बाजार में इन चीजों की कमी न हो।