नयी दिल्ली, 26 मई (भाषा) सरकार ने एंफोटेरिसिन-बी दवा की 29,250 अतिरिक्त शीशियां राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों को आवंटित की हैं। यह जानकारी बुधवार को केंद्रीय रसायन एवं उर्वरक मंत्री सदानंद गौड़ा ने दी।

एंफोटेरिसिन-बी दवा का इस्तेमाल म्यूकोरमाइकोसिस के इलाज में किया जाता है जिसे ब्लैक फंगस भी कहा जाता है। इस संक्रमण में नाक, आंखें और मस्तिष्क तक क्षतिग्रस्त हो जाते हैं।

गौड़ा ने ट्वीट किया, ‘‘एंफोटेरिसिन-बी दवा की अतिरिक्त 26,250 शीशियां म्यूकोरमाइकोसिस के इलाज के लिए राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को आज आवंटित की गईं। देश भर में उपचाराधीन मरीजों की संख्या के आधार पर यह आवंटन किया गया है जो 11,717 है।’’

सरकार ने इनमें से 7210 शीशियां गुजरात को, 6980 शीशियां महाराष्ट्र को आवंटित की हैं।

गुजरात और महाराष्ट्र में वर्तमान में म्यूकोरमाइकोसिस संक्रमण के सर्वाधिक मामले हैं जो क्रमश: 2859 और 2770 हैं।

बीमारी से लड़ने में अन्य राज्यों को भी अतिरिक्त शीशियां दी गई हैं जिनमें आंध्रप्रदेश को 1930,, मध्यप्रदेश को 1910, तेलंगाना को 1890, उत्तर प्रदेश को 1780, राजस्थान को 1250, कर्नाटक को 1220, हरियाणा को 1110 शीशियां आवंटित की गई हैं।

सरकार ने 24 मई को विभिन्न राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों और केंद्रीय संस्थानों को एंफोटेरिसिन-बी की 19,420 शीशियां आवंटित की थीं। इससे पहले 21 मई को सरकार ने विभिन्न राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों को दवा की 23,680 शीशियां आवंटित की थीं।