नयी दिल्ली, 28 अप्रैल (भाषा) केंद्र सरकार ने कोविड-19 मरीजों के उपचार में इस्तेमाल होने वाली टोसिलिजुमैब की सीमित खेप आने के बाद राज्यों को अंतरिम तौर पर इस दवा का आवंटन किया है।

एक पत्र में फार्मा के संयुक्त सचिव नवदीप रिनवा और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के निदेशक राजीव वधावन ने कहा है कि देश में कोरोना वायरस के मामले में अचानक बढ़ोतरी से कुछ सप्ताह पहले दवा का भंडार खत्म हो गया था।

पत्र में कहा गया कि इस दवा की सीमित खेप आयात की गयी और इकलौती विपणन कंपनी सिप्ला लिमिटेड के पास यह उपलब्ध है।

इसमें कहा गया, ‘‘स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय तथा औषधि विभाग द्वारा कंपनी के साथ विचार-विमर्श कर राज्यों के बीच इस दवा का अंतरिम आधार पर आवंटन किया गया है।’’

आवंटित की गयी दवा संबंधित राज्यों में सिप्ला के भंडार तक पहुंचायी जा रही है। निजी अस्पतालों को अलग से इसका आवंटन नहीं हुआ है।

पत्र के मुताबिक आंध्र प्रदेश, बिहार, छत्तीसगढ़, दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, झारखंड, कर्नाटक और केरल समेत कई राज्यों को अंतरिम आवंटन हुआ है। मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, ओडिशा, पंजाब और चंडीगढ़, राजस्थान, तमिलनाडु, तेलंगाना, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और केंद्रीय संस्थानों के लिए भी आवंटन किया गया हैं।

देश में कोरोना वायरस संक्रमण के एक दिन में रिकॉर्ड 3,60,960 नये मामले सामने आए हैं जिसके बाद संक्रमण के कुल मामले 1,79,9,267 हो गए हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के बुधवार सुबह तक के आंकड़ों के मुताबिक 3,293 और लोगों की मौत होने के बाद मृतक संख्या दो लाख को पार कर गई है।