किसानों के नरसंहार वाले हैशटैग को लेकर केंद्र सरकार ने ट्विटर को चेतावनी देते हुए सख्त कारवाई करने की बात कही है. सरकार ने कहा है कि अगर ट्विटर ने हमारी बात नहीं मानी तो इसके खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई होगी.

समाचार एजेंसी ANI ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि, केंद्र सरकार ने किसान नरसंहार से संबंधित सामग्री और अकाउंट हटाने के आदेश का पालन करने के लिए नोटिस जारी किया है. साथ ही सरकार ने साफ कर दिया है कि आदेश का पालन नहीं करने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

VIDEO: जिंद में महापंचायत के दौरान टूटा स्टेज, राकेश टिकैत भी हुए थे शामिल

सरकार की तरफ से कहा गया है कि, ये समाज में तनाव पैदा करने और दुर्व्यवहार करने के लिए प्रेरित अभियान माना जा सकता है. नरसंहार को प्रोत्साहन देने वाला और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता नहीं है. ट्विटर एक मध्यस्थ है और वे सरकार ने निर्देशों का पालन करने के लिए बाध्य है. ऐसा नहीं करने पर कार्रवाई की जाएगी.

दीप सिद्घू पर दिल्ली पुलिस ने रखा 1 लाख रुपये का इनाम, अन्य चार पर 50 हजार

दरअसल, तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन कर रहे हैं. इस दौरान ट्विटर पर काफी लोग अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त कर रहे हैं. इसी दौरान ट्विटर पर हाल ही में किसानों के नरसंहार वाले हैशटैग के साथ कुछ ट्वीट किए गए. ट्विटर पर ModiPlanningFarmerGenocide हैशटैग चलाया गया था.

इसके बाद ट्विटर ने कई अकाउंट को कार्रवाई करने का निर्देश दिए थे और कुछ अकाउंट पर रोक लगा दी थी. लेकिन बाद में उन अकाउंट को बहाल कर दिया गया. इसके बाद सरकार ने इसे हटाने के लिए कड़ा फैसला लिया है.

दिल्ली सरकार ने लापता किसानों का पता लगाने के लिए जारी की गिरफ्तार लोगों सूची, यहां देंखे पूरी लिस्ट