अहमदाबाद, 26 मई (भाषा) गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने बुधवार को उन किसानों के लिए 500 करोड़ रूपये के राहत पैकेज की घोषणा की जिनकी बागवानी फसल और ग्रीष्मकालीन फसल पिछले सप्ताह आये चक्रवात ताउते के चलते नष्ट हो गयी।

हाल के समय के सबसे अधिक शक्तिशाली चक्रवाती तूफानों में से एक ताउते 17 मई को गुजरात तट पर पहुंचा था, उसके चलते तेज हवाएं चली थीं और भयंकर बारिश हुई थी। सरकारी अनुमान के अनुसार उसके फलस्वरूप राज्य के नौ जिलों के 86 तालुकों में दो लाख हेक्टयेर क्षेत्र में फसल नष्ट हो गयी थी।

प्रभावित किसानों के वास्ते राहत पैकेज तय करने के लिए हुई कोर समिति की बैठक के बाद रूपाणी ने कहा, ‘‘ 220 किलोमीटर प्रति घंटे की दर से तूफान लाने वाले ताउते से सौराष्ट्र क्षेत्र के अमरेली, गिर सोमनाथ, भावनगर, जूनागढ़ और बोटाड जिलों में फसलें नष्ट हो गयीं। उसने दक्षिण गुजरात के नवसारी, सूरत, वलसाड और भरूच जिलों में भी फसलों पर असर डाला। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘ इन नौ जिलों के 86 तालुकों में दो लाख हेक्टेयर क्षेत्र में बागवानी और ग्रीष्मकालीन फसलें नष्ट हो गयीं। सरकार ने सर्वेक्षण शुरू किया है जो बृहस्पतिवार को पूरा होगा। ’’

उन्होंने कहा कि 500 करोड़ रूपये के राहत पैकेज के तहत राज्य सरकार पूरी तरह बागवानी फसलों का नुकसान उठाने वाले किसानों को प्रति हेक्टयर एक लाख रूपये की सहायता राशि देगी।

भाषा

राजकुमार वैभव

वैभव