भारती एयरटेल (Airtel) के ग्राहकों की डेटा में सेंध मारी की खबर सामने आई है. हैकरों ने जम्मू-कश्मीर सर्किल के करीब 25 लाख ग्राहकों के डेटा में कथित रूप से सेंध की गई है. हैकरों ने कहा है कि ये एक नमूना है, हमारे पास एयरटेल के पूरे भारत के ग्राहकों का डेटा है.

हैकरों ने कथित तौर पर जम्मू कश्मीर सर्किल के ग्राहकों की जानकारियों को सार्वजनिक कर दिया है. इन जानकारियों में आधार नंबर, पता और जन्मतिथि आदि शामिल है.

CBSE Datesheet 2021: 10वीं-12वीं के एग्जाम की डेटशीट जारी हुई, जानें परीक्षा से जुड़ी छोटी से छोटी बात

हालांकि कंपनी ने अपने सर्वर में सेंध से इनकार किया है.

साइबर सुरक्षा के शोधकर्ता राजशेखर राजहरिया ने सेंध लगायी गयी जानकारियों का एक नमूना ट्विटर पर साझा किया है. उन्होंने भारती एयरटेल और 'रेड रैबिट टीम' के नाम के हैकर्स के बीच ईमेल से हुई बातचीत का एक वीडियो भी साझा किया है. वीडियो में दिखाया गया है कि हैकर्स ने भारती एयरटेल को दिसंबर में डाटा की सेंध के बारे में सूचित किया और फिरौती की मांग की थी.

राजहरिया ने कहा, ‘‘हैकर्स ने दावा किया है कि उनके पास एयरटेल के पूरे भारत के ग्राहकों के डेटा हैं और उन्होंने केवल जम्मू-कश्मीर से ग्राहकों के डेटा का एक नमूना अपलोड किया है. यह संभव हो सकता है कि हैकर ने एयरटेल सर्वर में शेल (दुर्भावनापूर्ण सॉफ़्टवेयर कोड) अपलोड किया हो. कोविड-19 के दौरान कई कंपनियां सुरक्षा पर ध्यान केंद्रित नहीं कर सकीं और उनके डेटा में सेंध लग गयी.’’

हैकर्स ने एक वेबसाइट पर ग्राहक का डेटा भी अपलोड किया था, लेकिन बाद में इसे हटा दिया गया.

हालांकि संपर्क करने पर भारती एयरटेल के प्रवक्ता ने कंपनी के सर्वर के किसी भी प्रकार की सेंध से इनकार किया.

लाल किला अगले आदेश तक आम लोगों के लिए बंद, वजह किसान आंदोलन नहीं

(इनपुट पीटीआई से भी)