उत्तर प्रदेश के हाथरस में सामूहिक बलात्कार की पीड़िता के परिवार से मुलाकात के लिए जा रहे कांग्रेस नेता राहुल गांधी को यूपी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. राहुल गांधी ने आरोप लगाया है कि पुलिस ने उनके साथ धक्का मुक्की और उनपर लाठीचार्ज किया, जिससे वह नीचे गिर गए. 

यमुना एक्सप्रेस वे पर रोके जाने पर राहुल गांधी ने कहा, "मैं अकेला यहां से हाथरस जाना चाहता हूं. मुझे किस आधार पर गिरफ्तार किया जा रहा है मुझे ये बता दीजिए."

गिरफ्तारी पर पुलिस ने कहा, "हम आपको यहां से आगे नहीं जाने देंगे. हम आपको अरेस्ट करते हैं. आपको धारा188 के अंतर्गत गिरफ्तार किया जाता है."

मुझे लाठी मारकर गिराया गया: राहुल गांधी 

राहुल गांधी ने बताया, "अभी पुलिस वालों ने मुझे धकेल के लाठी मारकर गिराया ठीक है, मैं कुछ नहीं कह रहा हूं, कोई प्रॉब्लम नहीं. इस हिंदुस्तान में क्या RSS और BJP के लोग ही चल सकते हैं? क्या आम आदमी नहीं चल सकता? क्या इस देश में नरेंद्र मोदी ही पैदल जा सकते हैं?"

राहुल ने ट्वीट कर सरकार पर निशाना साधा 

राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि प्रदेश में जंगलराज का यह आलम है कि शोक में डूबे एक परिवार से मिलना भी सरकार को डरा देता है. 

राहुल ने यह भी कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को इतना नहीं डरना चाहिए. राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘‘मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, दुख की घड़ी में अपनों को अकेला नहीं छोड़ा जाता. उप्र में जंगलराज का ये आलम है कि शोक में डूबे एक परिवार से मिलना भी सरकार को डरा देता है. इतना मत डरो, मुख्यमंत्री महोदय!’’

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के हाथरस कांड के पीड़ित परिजनों से मुलाकात करने जा रहे राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के काफिले को ग्रेटर नोएडा में पुलिस ने रोक लिया. उसके बाद वे पैदल ही हाथरस के लिये निकल गए.