कोलंबो, 28 अप्रैल (भाषा) श्रीलंका में एक हिंदू मंदिर के शीर्ष अधिकारियों को कोविड-19 के मामले बढ़ने के मद्देनजर बड़ी सभाओं पर प्रतिबंध के बावजूद उत्सव का आयोजन करने आरोप में गिरफ्तार किया गया है। मीडिया में आई खबर में यह जानकारी दी गई है।

कोलंबो गजट समाचार-पत्र ने खबर दी कि तमिलों की बहुलता वाले जाफना प्रदेश में श्री कामाक्षी अम्मन कोविल मंदिर के उत्सव में बड़ी भीड़ एकत्र हुई थी जिसमें न किसी ने मास्क लगाया हुआ था और न ही शारीरिक दूरी का पालन किया गया।

पुलिस ने कहा कि मंदिर के न्यासी मंडल के प्रमुख एवं सचिव को प्रतिबंध के बावजूद उत्सव का आयोजन करने कारण गिरफ्तार कर लिया गया है।

सरकार ने ऐसे बड़े कार्यक्रमों पर 31 मई तक पाबंदियां लगाई हुई हैं।

सिनहाला और तमिल नववर्ष के बाद श्रीलंका को तीसरे स्तर के अलर्ट पर जाने के बाद पिछले हफ्ते, सरकार ने ट्यूशन कक्षाएं, पार्टियों और जनसभाओं को 31 मई तक प्रतिबंधित किए जाने की घोषणा की थी।

स्वास्थ्य अधिकारियों ने मध्य अप्रैल में नव वर्ष उत्सवों के बाद मामले बढ़ने को लेकर आगाह किया है।

नये स्वास्थ्य दिशा-निर्देशों के मुताबिक कसीनो, नाइट क्लब और तट पर होने वाली पार्टियों पर भई अस्थायी रूप से प्रतिबंध लगाए गए हैं।

सरकारी एवं निजी दफ्तरों को कम से कम कर्मचारियों को बुलाकार और अधिकतर को घर से ही काम कराने को कहा गया है।

श्रीलंका में मंगलवार को कोविड-19 के 1,111 नये मामले सामने आए। मार्च 2020 में पहली बार मामले सामने आने के बाद से यह एक दिन में आए सर्वाधिक मामले हैं।

भाषा

नेहा अनूप

अनूप