पश्चिम बंगाल में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले राज्य में भाजपा संगठन का जायजा लेने के लिए केंद्रीय गृहमंत्री एवं पार्टी के वरिष्ठ नेता अमित शाह द्वारा इस महीने के अंत में प्रदेश की दो दिवसीय यात्रा करने की संभावना है.

पार्टी की प्रदेश इकाई के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी.

शाह की यह संभावित यात्रा गुरुवार को भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा पर भीड़ द्वारा किये गये हमले को लेकर तृणमूल कांग्रेस नीत राज्य सरकार और केंद्रीय गृहमंत्रालय के बीच चल रही तनातनी के बीच होगी.

West Bengal सरकार का फैसला, 'MHA के समन पर मुख्य सचिव और DGP को नहीं भेजेगी दिल्ली'

ममता बनर्जी सरकार ने राज्य के मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक को 14 दिसंबर को नयी दिल्ली नहीं भेजने का निर्णय लिया है, जबकि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इन दोनों अधिकारियों को नड्डा के काफिले पर हुए भीड़ के हमले के आलोक में तलब किया है.

प्रदेश भाजपा महासचिव सायंतन बसु ने कहा, ‘‘ इस बात की प्रबल संभावना है कि अमित शाह जी 19 दिसंबर को दो दिन के लिए पश्चिम बंगाल आयेंगे. वह उत्तरी 24 परगना जिले में शरणार्थियों के एक कार्यक्रम तथा शांतिनिकेतन में एक अन्य कार्यक्रम में भाग लेंगे. लेकिन अबतक अंतिम रूप से कुछ तय नहीं किया गया है.’’

West Bengal राज्यपाल ने केंद्र को भेजी रिपोर्ट, कहा- 'ममता सरकार आग से खेल रही हैं'

प्रदेश भाजपा सूत्रों के अनुसार राज्य की बिगड़ती कानून व्यवस्था की राज्यपाल जगदीप धनखड़ द्वारा आलोचना किये जाने के आलोक में केंद्रीय गृहमंत्री की यात्रा राजनीतिक रूप से मायने रखती है.

भाजपा नेतृत्व ने नड्डा के काफिले पर भीड़ के हमले को लेकर राज्य सरकार की आलोचना की है. नड्डा डायमंड लोकसभा क्षेत्र में पार्टी के एक कार्यक्रम में भाग लेने जा रहे थे,तभी यह घटना हुई थी.