टी20 वर्ल्ड कप के लिए भारतीय टीम का ऐलान बीते बुधवार को हो गया है. साथ ही पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को टी20 वर्ल्ड कप के लिए टीम इंडिया का मेंटर नियुक्त किया गया था. अब खबर यह है कि मध्य प्रदेश क्रिकेट असोसिएशन के पूर्व सदस्य संजीव गुप्ता ने धोनी के टीम इंडिया के मेंटर के रूप में नियुक्ति पर आपत्ति जताई है. सिर्फ इतना ही नहीं संजीव ने बीसीसीआई को इस फैसले के खिलाफ एक पत्र भी लिखा है.

गुप्ता पहले भी कई प्लेयर्स और एडमिनिस्ट्रेटर्स के खिलाफ ऐसी शिकायत दाखिल कर चुके हैं और अब उन्होंने एक चिट्ठी लिखकर एपेक्स काउंसिल के मेंबर्स को कहा है कि धोनी की नियुक्ति हितों के टकराव में आती है, क्योंकि एक व्यक्ति दो पदों पर नहीं रह सकता.

यह भी पढ़ें: धोनी और सचिन के बाद अब सौरव गांगुली की बायोपिक बनेगी, दादा ने खुद दी जानकारी

क्या है पूरा मामला?

दरअसल गुप्ता का कहना है कि धोनी अभी IPL टीम चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान हैं. ऐसे में उनका टीम का मेंटर होना सही नहीं रहेगा. इसपर बीसीसीआई के एक सोर्स ने PTI से कहा, "हां, संजीव ने सौरव गांगुली और जय शाह के साथ-साथ एपेक्स काउंसिल के सदस्यों को एक चिट्ठी भेजी है. उन्होंने बीसीसीआई के संविधान के अनुच्छेद 38 (4) का ज़िक्र किया है जिसमें इस बात का जिक्र है कि एक आदमी दो अलग-अलग पोस्ट पर नहीं रह सकता. इसके बाद अब एपेक्स काउंसिल को इस मामले में लीगल टीम से बात करनी होगी."

यह भी पढ़ें: सभी भारतीय खिलाड़ियों की कोविड रिपोर्ट नेगेटिव आई, खेला जाएगा ENG और IND के बीच 5वां टेस्ट

धोनी एक साथ किसी टीम के कप्तान और किसी दूसरी टीम के मेंटर कैसे हो सकते हैं? संजीव गुप्ता यही सवाल उठा रहे हैं. बीसीसीआई के सेक्रेटरी जय शाह ने खुद धोनी को मेंटर बनाने की घोषणा की थी. अब देखने वाली बात यह होगी कि बीसीसीआई इस पर आगे क्या निर्णय लेगी.

बता दें, धोनी की कप्तानी में ही टीम इंडिया ने 2007 का T20 वर्ल्ड कप और 2011 का ODI वर्ल्ड कप जीता था. 15 अगस्त 2020 में धोनी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था, जिसके बाद अब धोनी सिर्फ IPL में खेलते हैं. फिलहाल धोनी आईपीएल टीम चेन्नई सुपर किंग्स के साथ UAE में हैं.

यह भी पढ़ें: ENG vs IND: 5वें टेस्ट में इन दो खिलाड़ियों की होगी छुट्टी, देखें भारत की संभावित प्लेइंग XI