उत्तर प्रदेश के जनपद गौतम बुद्ध नगर (NOIDA) में ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे कोविड-19 मरीजों को ऑक्सीजन पहुंचाने के लिए जिला प्रशासन ने एक बड़ा निर्णय लिया है. जिलाधिकारी सुहास एलवाई ने बताया कि बड़ी संख्या में लोग होम आइसोलेशन में अपना उपचार करा रहे हैं. इन्हें ऑक्सीजन गैस के सिलेंडरों की आवश्यकता है. ऑक्सीजन की कमी को दूर करने के लिए योजना तैयार कर ली गई है.

पीटीआई के मुताबिक, जिलाधिकारी ने बताया कि नोएडा के नगरी क्षेत्रों में नोएडा प्राधिकरण, ग्रेटर नोएडा क्षेत्र में ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण, और यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में यमुना विकास प्राधिकरण के लोग ऑक्सीजन गैस की आपूर्ति करेंगे.

यह भी पढ़ेंः दिल्ली सरकार का फैसला, मुफ्त में चलेगा मीडिया हाउस में कोरोना टीकाकरण का अभियान

दादरी क्षेत्र में वहां की नगर पालिका और जेवर कस्बे में वहां की नगर पंचायत को ऑक्सीजन की आपूर्ति की जिम्मेदारी सौंपी गई है.

उन्होंने बताया कि प्राधिकरण और नगर पालिका के अधिकारी आम आदमी से ऑक्सीजन के सिलेंडर लेंगे, और रिफिल करवा कर वापस देंगे. जरूरत पड़ने पर मरीजों के लिए होम डिलीवरी का भी इंतजाम किया जाएगा.

यह भी पढ़ेंः 'प्रभावी उपाय किए जाएं तो नहीं आएगी कोरोना की तीसरी लहर'- प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार

जिला अधिकारी ने बताया कि जिले में 5 संग्रह-वितरण केंद्र बनाए जाएंगे. पांचों निकाय अगले 24 से 48 घंटे में संग्रह- वितरण केंद्र स्थापित करेंगे. अधिकतम 48 घंटों में ऑक्सीजन सिलेंडर की आपूर्ति शुरू करनी होगी.

डीएम ने बताया कि सिलेंडर भरने की जिम्मेदारी मारुति कार्बोनेक्स कंपनी को सौंपी गई है. यह कंपनी ग्रेटर नोएडा में है. इस कंपनी को लिक्विड ऑक्सीजन की आपूर्ति आईनॉक्स एयर प्रोडक्ट्स कंपनी करेगी. यह कंपनी भी ग्रेटर नोएडा में है.

दोनों कंपनियों को आदेश दिया गया है कि किसी भी स्थिति में ऑक्सीजन की आपूर्ति बाधित नहीं होनी चाहिए.

यह भी पढ़ेंः WhatsApp ने बदला अपना फैसला, 15 मई के बाद अब नहीं बंद होगा आपका अकाउंट

जिला अधिकारी ने बताया कि जो लोग ऑक्सीजन सिलेंडर प्राधिकरण या नगर निकाय के सेंटर से भरवाने आएंगे उन्हें अपने साथ कुछ दस्तावेज लेकर आने होंगे, जिसमें मुख्य रुप से आधार कार्ड की फोटो कॉपी, डॉक्टर की ओर से जारी किया गया दवाई का पर्चा, ऑक्सीजन सैचुरेशन लेवल रिपोर्ट और कोरोना वायरस रिपोर्ट लेकर केंद्र पर जाना होगा.

ऑक्सीजन सिलेंडर भरने का शुल्क भी तय कर दिया गया है. उन्होंने बताया कि बड़े सिलेंडर के रिप्लाई के लिए 500 रपये, डी-टाइप छोटे ऑक्सीजन सिलेंडर भरवाने के लिए 200 रूपए चुकाने होंगे.

यह भी पढ़ेंः एक दिन में कितने ग्राम नमक खाना चाहिए? जानें WHO की गाइडलाइन

जिलाधिकारी ने कहा कि जिले में किसी भी कीमत पर ऑक्सीजन की कालाबाजारी नहीं होने दी जाएगी. जो लोग ऑक्सीजन की कालाबाजारी करते हुए पकड़े जाएंगे, उनके खिलाफ गैंगेस्टर और राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी.

जिलाधिकारी ने गौतम बुद्ध नगर के लोगों से अपील की है कि वे धैर्य बनाकर रखें. व्यापक स्तर पर इंतजाम किए जा रहे हैं. अगले 24 घंटे में हालात काफी हद तक सामान्य हो जाएंगे.

यह भी पढ़ेंः कर्नाटक में 10 मई से संपूर्ण लॉकडाउन, जानें किस चीज के लिए दी गई छूट