CBSE ने 12वीं के बोर्ड एग्जाम को कैंसिल कर दिया गया है. सरकार की तरफ से जारी प्रेस रिलीज में कहा गया है कि बारहवीं कक्षा के परिणाम समयबद्ध तरीके से एक अच्छी तरह से परिभाषित उद्देश्य मानदंड के अनुसार बनाए जाएंगे. अब CBSE की तरफ से आए बयान में कहा गया है कि बोर्ड मानदंड तैयार करने में लगा हुआ है, लेकिन इसके लिए थोड़ा इंतजार करना होगा.

CBSE के सेक्रेटरी अनुराग त्रिपाठी ने कहा, "हम कक्षा 12 के मूल्यांकन के लिए मानदंड तैयार करने की प्रक्रिया में हैं. इसके पूरा होने के बाद हम इसे सार्वजनिक डोमेन में डाल देंगे. माता-पिता, शिक्षकों, प्रधानाचार्यों और छात्रों को इसके लिए थोड़ा इंतजार करने की जरूरत है. साथ ही सभी से अनुरोध है कि घबराएं नहीं."

बता दें कि पिछले साल की तरह, यदि कुछ छात्र परीक्षा देने की इच्छा रखते हैं, तो स्थिति अनुकूल होने पर CBSE उन्हें ऐसा विकल्प प्रदान कराएगी.

दिल्ली यूनिवर्सिटी में कैसे होगा एडमिशन?

दिल्ली यूनिवर्सिटी (DU) का कहना है कि इस साल भी यूनिवर्सिटी में मेरिट के आधार पर ही एडमिशन किए जाएंगे. इसका मतलब ये है कि एडमिशन के लिए एंट्रेस एग्जाम नहीं लिए जा सकते हैं.

यह भी पढ़ें: डेटशीट जारी करने के बाद गुजरात बोर्ड ने रद्द की 12वीं की परीक्षा

दिल्ली यूनिवर्सिटी के एक्टिंग वीसी पीसी जोशी ने बताया है कि, केंद्र सरकार ने कोरोना की वजह से जो फैसला लिया है, वह उनका समर्थन करते हैं. हमारे यहां मेरिट के आधार पर ही एडमिशन किए जाएंगे. रिजल्ट के लिए बोर्ड जो भी तय करेंगे उनका वह सम्मान करेंगे.

यह भी पढ़ें: कौन है माहिरा इरफान? ऑनलाइन क्लास को लेकर पीएम से की शिकायत

परीक्षा को रद्द कर दिया है.

यह भी पढ़ेंः 12वीं बोर्ड परीक्षा कैंसिल होने के बाद बड़ा सवाल, एडमिशन कैसे होंगे? जानें, DU ने क्या कहा