भारत की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की परीक्षा है. हर साल देशभर के लाखों छात्र UPSC की परीक्षा देते हैं. हालांकि कुछ ही इस परीक्षा में सफल हो पाते हैं. इस परीक्षा को पास करने के बाद भी ऐसे काफी कम ही लोग होते हैं जिन्हें इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस (IAS) अफसर बनने का मौका मिलता है. ये पद कई लोगों का सपना होता है. बहुत से लोगों के मन में ये सवाल होता है कि आईएएस अफसर की सैलरी कितनी होती है और उन्हें आखिर क्या क्या सुविधाएं मिलती हैं. आइए जानते हैं- 

यह भी पढ़ें: Post Office Schemes: पोस्ट ऑफिस की पैसे डबल करने वाली स्कीम आप जानते हैं क्या?

मंत्रालयों में काम करते हैं IAS अधिकारी

UPSC की परीक्षा पास करने वाले उम्मीदवारों को IAS यानी भारतीय प्रशासनिक सेवा के माध्यम से देश की सेवा करने का मौका मिलता है. इसके साथ ही IAS अधिकारियों को अलग-अलग मंत्रालयों और प्रशासनिक विभागों में नियुक्त किया जाता है. हालांकि कैबिनेट सचिव का पद एक IAS अधिकारी के लिए सबसे बड़ा पद माना जाता है.

IAS अफसर को कितनी सैलरी मिलती है?

7वें वेतन आयोग के अनुसार एक आईएएस अफसर को शुरुआत में 56100 रुपये सैलरी के रूप में मिलते हैं. सिर्फ इतना ही नहीं उन्हें यात्रा भत्ता और महंगाई भत्ता के साथ-साथ कई अन्य भत्ते भी दिए जाते हैं. कुछ रिपोर्ट्स के अनुसार एक आईएएस अफसर को हर महीने करीब 1 लाख रुपये से ज्यादा सैलरी मिलती है. इसके साथ ही कैबिनेट सचिव के पद पर बैठे आईएएस अफसर को करीब 2.5 लाख रुपये प्रतिमाह वेतन मिलता है.

यह भी पढ़ें: ATM में खत्म हुआ कैश तो बैंकों की खैर नहीं, 1 अक्टूबर से लागू होगी RBI की नई व्यवस्था

IAS अफसर को मिलती हैं ये सुविधाएं

आईएएस अधिकारियों को अलग-अलग तरीकों से सुविधाएं दी जाती हैं. जिनमें जूनियर स्केल, सीनियर स्केल, सुपर टाइम स्केल शामिल हैं. एक आईएएस अधिकारी को शुरुआती सैलरी और ग्रेड पे के अलावा डियरनेस अलाउंस (DA), हाउस रेंट अलाउंस (HRA), मेडिकल अलाउंस और कन्वेंशन अलाउंस भी मिलते हैं. इसके साथ ही आईएएस अफसर को घर, रसोइया (Cook) और कई और स्टाफ भी मिलते हैं. आईएएस अधिकारी को सरकारी घर भी दिया जाता है. इसके साथ ही सरकार की तरफ से एक गाड़ी भी मिलती है. 

यह भी पढ़ें: एक सितंबर से आपकी जेब पर पड़ेगा गहरा असर, महंगा हुआ LPG, बदला PF का नियम