...भरत शर्मा...

नयी दिल्ली, 23 मई (भाषा) इंग्लैंड के पूर्व स्पिनर मोंटी पनेसर का मानना है कि साउथम्प्टन के एजेस बाउल में विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) के फाइनल मे अगर परिस्थितियां तेज गेंदबाजों के अनुकूल रही तो फिर भारत के खिलाफ न्यूजीलैंड की टीम का पलड़ा भारी रहेगा। इंग्लैंड में इस समय बारिश और ठंड जैसा मौसम है और पनेसर ने कहा कि अगर 18 जून से शुरू होने वाले डब्ल्यूटीसी फाइनल से समय भी ऐसे हालात रहे तो न्यूजीलैंड को फायदा होगा। पनेसर ने इंग्लैड से फोन पर पीटीआई-भाषा को दिये साक्षात्कार में कहा, ‘‘ इस समय काफी बारिश हो रही है। अगर मौसम ऐसा ही रहा तो भारत और न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाजों के बीच दिलचस्प मुकाबला होगा। न्यूजीलैंड के बल्लेबाज स्विंग होती गेंद को भारतीय बल्लेबाजों से बेहतर खेलते हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ ऐसे में यह देखना काफी दिलचस्प होगा कि टेस्ट मैच के दौरान गेंद स्विंग कर रही है या नहीं और भारतीय बल्लेबाज न्यूजीलैंड की तुलना में इसका सामना कैसे करते हैं।’’ बायें हाथ के इस पूर्व स्पिनर ने कहा कि अगर साउथम्प्टन में उस समय मौसम साफ रहा और धूप खिली रही तो ऐसी परिस्थितियां भारत के लिए अधिक अनुकूल होंगी। पनेसर को यह भी उम्मीद जतायी कि आईसीसी (अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद) इस मुकाबले के लिए घसियाले पिच की जगह एक तटस्थ विकेट तैयार करेगा क्योंकि डब्ल्यूटीसी फाइनल को को पांच दिवसीय मैच के खेल के लिए एक अच्छा विज्ञापन माना जाएगा। उन्होंने कहा, ‘‘ एजेस बाउल में जल निकासी (बारिश के बाद मैदान सूखने) की शानदार प्रणाली है। आम तौर पर आपको वहां अच्छा गर्म मौसम मिलता है। उम्मीद है कि यह मुकाबला चार या पूरे पांच दिनों तक चलेगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ऐसी स्थिति में भारतीय टीम दो स्पिनरों (रविचंद्रन अश्विन और रविन्द्र जडेजा) और तीन तेज गेंदबाजों के साथ मैदान पर उतर सकती है। अगर मौसम साफ रहा तो भारत का पलड़ा भारी होगा। यह बहुत हद तक परिस्थितियों पर निर्भर करता है।’’ भारतीय टीम दो जून को इंग्लैंड पहुंचेगी और उसे अभ्यास के लिए 10 दिन से थोड़ा अधिक समय मिलेगा। दूसरी ओर, न्यूजीलैंड डब्ल्यूटीसी फाइनल से पहले इंग्लैंड के खिलाफ दो टेस्ट खेल रहा है और कई विशेषज्ञ इसे एक बड़े फायदे के रूप में देख रहे हैं लेकिन पनेसर का मानना ​​है कि यह एक दोधारी तलवार की तरह हो सकता है। उन्होंने कहा, ‘‘ न्यूजीलैंड अगले दो टेस्ट मैचों में अच्छा प्रदर्शन करता है तो भारत के खिलाफ लय उनके पक्ष में हो सकती है। इंग्लैंड अगर उन्हें हरा देता है तो अचानक उनका आत्मविश्वास कम होने लगेगा और यह भारत के लिए अच्छा हो सकता है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड आमतौर पर साल के इस समय (सत्र की शुरूआत में) बहुत प्रभावी होते हैं लेकिन इंग्लैंड ने कुछ प्रमुख खिलाड़ियों की अनुपस्थिति में एक बी टीम (न्यूजीलैंड श्रृंखला के लिए) चुनी गयी है, इसलिए हमें इंतजार करना होगा।’’ इस पूर्व वामहस्त स्पिनर को हालांकि लगता है कि तैयारी के लिए पर्याप्त समय नहीं मिलने के बावजूद ऑस्ट्रेलिया में जीत के बाद भारतीय टीम को किसी भी स्थिति से जीतने का विश्वास होगा। उन्होंने कहा, ‘‘ अगर डब्ल्यूटीसी का फाइनल एक सप्ताह के अंदर (न्यूजीलैंड-इंग्लैंड श्रृंखला से पहले) होता तो मैं भारतीय टीम को जीत का दावेदार चुनता क्योंकि उन्होंने मुश्किल परिस्थितियों वाले मैच काफी अधिक खेले है। न्यूजीलैंड ने भी अच्छी क्रिकेट खेली है लेकिन उसने भारत जैसी मुश्किल जीत नहीं दर्ज की है। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘ जब आप काफी कठिन, बेहद मुश्किल परिस्थितियों से मैच जीतते है तो शीर्ष स्तर की टीम बनती है।’’ डब्ल्यूटीसी फाइनल के बाद भारतीय टीम को इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की टेस्ट श्रृंखला खेलनी है। पनेसर का अनुमान है कि भारतीय टीम इसे 5-0 से जीतेगी। उन्होंने कहा, ‘‘ श्रृंखला अगस्त में है इस समय यहां गर्मी का मौसम होता है, विकेट सूखे होंगे। अगर कोई और समय होता तो मैं इंग्लैंड का नाम लेता। साल का वह समय भारत के अनुकूल होगा। ’’ भारतीय टीम ने आखिरी बार 2007 में इंग्लैंड में टेस्ट श्रृंखला जीती थी। भाषा आनन्द पंतपंत