अगर आपके पास सेविंक अकाउंट हैं और उसमें इंटरनेट बैंकिंग की सुविधा नहीं है तो आप 50 हजार रुपये से अधिक का चेक काटते हैं तो आपके लिए मुश्किल हो सकती है. ऐसा इसलिए क्योंकि बैंक ने अब पॉजिटिव पे सिस्टम (PPS) को लागू करना शुरू कर दिया है. बैंक अब इस सिस्टम को 1 सितंबर से लागू कर देंगे.

आपको बता दें रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने चेक ट्रांजेक्शन सिस्टम (CTS) के लिए पिछले साल अगस्त 2020 में पॉजिटिव पे सिस्टम (PPS) की घोषणा की थी.

यह भी पढ़ेंः Post Office Schemes: पोस्ट ऑफिस की पैसे डबल करने वाली स्कीम आप जानते हैं क्या?

रिजर्व बैंक के इस नियम के तहत, बैंक अपने अकाउंट होल्डर के लिए उनकी इच्छानुसार 50 हजार या उससे अदिक की रकम वाले चेक के लिए यह सुविधा लागू कर सकते हैं.

नियम के तहत चेक जारी करने से पहले ग्राहक को बैंक में इस बारे में सूचना देना होगा. वरना चेक को स्वीकार नहीं किया जाएगा. ऐसे में आपका चेक रिजेक्ट हो जाएगा. ये दिक्कतें वरिष्ठ नागरिकों को भी हो सकती है जो नेट बैंकिंग या मोबाइल बैंकिंग की सेवा का इस्तेमाल नहीं करते हैं.

यह भी पढ़ेंः ATM में खत्म हुआ कैश तो बैंकों की खैर नहीं, 1 अक्टूबर से लागू होगी RBI की नई व्यवस्था

बता दें, सरकारी क्षेत्र के SBI बैंक ने PPS नियम को लागू कर दिया है. वहीं, प्राइवेट क्षेत्र में कोटेक महिंद्रा और एक्सिस बैंक ने PPS सिस्टम को लागू कर दिया है. हालांकि, अभी ये अभी वैक्लपिक तौर पर रखा गया है.

आपको बता दें, रिजर्व बैंक ने पॉजिटिव पे सिस्टम (PPS) का फैसला इसलिए लिया था कि, मौजूदा समय में पैसों को लेकर काफी धोखाधड़ी हो रही है. ये नियम बैंक के ग्राहकों को सुरक्षा देने के लिए किया गया है. आए दिन चेक के साथ धोखाधड़ी के कई मामले आते रहते हैं. ऐसे में ये सिस्टम चेक से होनेवाले धोखाधड़ी पर लगाम लगाएगा.

यह भी पढ़ेंः Home Loan की तैयारी पहले से करें, बिना जानकारी हो जाएगा नुकसान

यह भी पढ़ेंः बिना इंटरनेट और मोबाइल के भी आप तुरंत ट्रांसफर कर सकते हैं बड़ी रकम