उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में शनिवार को रेलवे अधिकारी की पत्नी और बेटे की हत्या का पुलिस ने कुछ ही देर में खुलासा करते हुए नाबालिग बेटी को हिरासत में ले लिया है. पुलिस का दावा है कि मानसिक तनाव से गुजर रही बेटी ने अपनी मां और भाई की गोली मारकर हत्या कर दी और खुद के हाथ को ब्लेड से काट लिया.

उन्होंने बताया कि बच्ची निशानेबाज है. पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त हथियार और ब्लेड बरामद कर लिया है.

निशानेबाजी सीखने वाली गन का इस्तेमाल किया 

उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक एचसी अवस्थी ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘वह (किशोरी) गंभीर मानसिक तनाव में थी. वह आमेचर (नौसिखिया) निशानेबाज है और उसने अपराध में शूटिंग गन (जिससे निशानेबाजी सीखी जाती है) का इस्तेमाल किया. ’’

उनसे जब पूछा गया कि कुछ ऐसी भी सूचना मिल रही है कि किशोरी के कमरे से एक कंकाल मिला है, इसपर अवस्थी ने जवाब दिया ''नहीं-नहीं वह कंकाल की तस्वीर मात्र थी . ''

खुद को रेजर से काटा 

पुलिस आयुक्त सुजीत पांडेय ने बताया, ‘‘पूछताछ में उसने (बेटी) ने यह भी बताया कि उसने अपने को रेजर से काटा है, रेजर भी बरामद हो गया है. उसके दाहिने हाथ में रेजर से काटने के निशान थे, जिसपर उसने पट्टी बांधी हुई है. ’’ पांडेय ने आगे बताया, ‘‘पूछताछ से किशोरी के मानसिक तनाव में होने की बात सामने आयी है. उसे बाल सुधार गृह में भेजा गया है. ’’

शीशे पर 'डिस्कवालीफाइड ह्यूमन' लिखकर चलाई गोली

पांडेय ने बताया, ‘‘सारी पूछताछ उसके नाना और रिश्तेदारों के समक्ष हुई है. इस दौरान महिला पुलिस अधिकारी भी मौजूद थीं. ’’ पांडेय ने बताया कि किशोरी ने अपने घर के बाथरूम में जैम से ''डिस्कवालीफाइड ह्यूमन'' लिखा है और उस शीशे पर भी गोली मारी है.

पुलिस आयुक्त ने बताया, ‘‘किशोरी ने बताया कि उसने पांच गोलियां लोड की थी, जिसमें से एक शीशे में मारी. ’’

उन्होंने बताया कि इस मामले की जांच के लिये पुलिस के अधिकारियों की छह टीमें बनायी गयी थी, इसके अलावा फोरेंसिक टीम के विशेषज्ञों का भी सहारा लिया गया.

सीएम आवास से कुछ ही दूर की घटना 

गौरतलब है कि राजधानी के अतिविशिष्ठ इलाके गौतमपल्ली में शनिवार दोपहर बाद दिल्ली में तैनात रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी की पत्नी और बेटे की गोली मारकर हत्या कर दी गयी. यह इलाका मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सरकारी आवास से कुछ ही दूरी पर स्थित है. यहां पर आसपास मंत्री और वरिष्ठ अधिकारी रहते हैं.

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने राज्य सरकार को घेरा 

समाजवादी पार्टी ने प्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर उप्र सरकार को कठघरे में खड़ा किया.  सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने शनिवार को किए एक ट्वीट में कहा, ''अब अपराध प्रदेश की राजधानी लखनऊ के तथाकथित सर्वाधिक सुरक्षित व महत्वपूर्ण इलाके गौतमपल्ली में ‘डबल मर्डर’ की दोहरी धमक के साथ प्रवेश कर गया है . अब तो प्रदेश की जनता बच्चों को कहानी सुना रही है: ‘कुछ समय पहले की बात है कि अपने प्रदेश में क़ानून-व्यवस्था हुआ करती थी’. ''

एक अन्य ट्वीट में यादव ने कहा कि ''अनियंत्रित कोरोना, ध्वस्त अर्थव्यवस्था और परीक्षाओं के मामले में भाजपा सरकार आंख पर पट्टी और कान में रूई लगाकर, मौन धारण करके बैठी है. आज गृह मंत्रालय ने राज्यों से लॉकडाउन लगाने का हक़ भी छीन लिया है, राज्यों के हिस्से का टैक्स व राजस्व तो वो पहले ही छीन कर बैठी है . नो मोर बीजेपी . ''