मध्य प्रदेश के ग्वालियर के छीमक गांव में हुई सार्वजनिक रैली के दौरान ज्योतिरादित्य सिंधिया की मौजूदगी में बीजेपी नेता इमरती देवी मंच पर रोने लगीं. कांग्रेस नेता व पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने 18 अक्टूबर को इमरती देवी के लिए 'आइटम' शब्द का इस्तेमाल किया था.  

बता दें कि कमलनाथ की राज्य की मंत्री इमरती देवी के खिलाफ ‘आइटम’ टिप्पणी को पार्टी नेता कांग्रेस नेता राहुल गांधी द्वारा दुर्भाग्यपूर्ण बताने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कमलनाथ पर अपना हमला तेज कर दिया. चौहान ने कहा, ‘‘ मुझे आश्चर्य है कि कांग्रेस ने इन्हें (कमलनाथ) अब तक मध्य प्रदेश का कांग्रेस अध्यक्ष क्यों बना रखा है?’’

तीन नवंबर को होने वाले उपचुनाव के लिए मुरैना जिले के जौरा में चुनाव प्रचार करने आये चौहान ने मीडिया से कहा, ‘‘राहुल गांधी ने ये स्वीकार किया कि कमलनाथ ने गलती की. उनसे सवाल यह है कि यदि गलती की है तो आप क्या कार्रवाई करेंगे? दूसरी बात कमलनाथ ‘सीना जोरी’ कर रहे हैं और गलती स्वीकार नहीं कर रहे हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘ये (कमलनाथ) आज भी... कह रहे हैं कि मैं माफी नहीं मांगूंगा. ये कैसा नेता हैं?’’

राहुल गांधी ने कमलनाथ की टिप्पणी पर नाराजगी जाहिर करते हुए इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताया है. मुख्यमंत्री चौहान ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखकर कमलनाथ को पार्टी के सभी पदों से हटाने की मांग की है. इसके बाद कमलनाथ ने अपनी टिप्पणी के लिए खेद जताया था और कहा था कि उन्होंने कुछ भी असम्मानजनक नहीं कहा है .