दिल्ली के छतरपुर स्थित राधा स्वामी सत्यसंग ब्यास में 10,000 बेड वाले सरदार पटेल कोविड केयर सेंटर का उद्घाटन किया गया है. ये दुनिया में अपनी तरह का सबसे बड़ा कोविड केयर सेंटर है. इसका उद्घाटन दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने किया है. उन्होंने कहा कि ये केंद्र महामारी से निपटने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा.

बैजल ने छतरपुर में स्थापित इस केंद्र में बिस्तरों, ऑक्सीजन सिलेंडर, संकेंद्रकों, वेंटिलेटरों, आईसीयू और चिकित्सा कर्मचारियों की उपलब्धता की समीक्षा की. उन्होंने भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) को केन्द्र का जिम्मा संभालने के लिये बधाई भी दी.

इस केंद्र के संचालन के लिए नोडल एजेंसी भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) होगी जबकि दिल्ली सरकार प्रशासनिक मदद दे रही है.

बैजल ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के मार्गदर्शन और समर्थन से दिल्ली को दुनिया के सबसे बड़े कोविड-19 केयर सेंटर में से एक केंद्र मिला है, जो महामारी के खिलाफ जंग में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा.

उन्होंने ट्वीट किया, ''गंभीर रूप से बीमार रोगियों का विशेष ध्यान रखने और यदि आवश्यक हो तो उन्हें कोविड अस्पतालों में स्थानांतरित करने की सलाह दी है. एसडीएमसी को केंद्र में स्वच्छता सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है. आईटीबीपी द्वारा कोविड केंद्र का प्रबंधन किया जाना सराहनीय है.’’

20 फुटबॉल मैदान जितना बड़ा कोविड केयर सेंटर

आईटीबीपी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि रविवार को कम से कम 20 रोगियों के इस केन्द्र में पहुंचने की संभावना है. यह केंद्र 1,700 फुट लंबा और 700 फुट चौड़ा है. इसका आकार फुटबॉल के करीब 20 मैदानों जितना है. इसमें 200 ऐसे परिसर हैं जिनमें प्रत्येक में 50 बिस्तर हैं. यह केंद्र मामूली या बिना लक्षण वाले कोरोना वायरस मरीजों के लिए है. यह बिना लक्षण वाले उन संक्रमित लोगों के लिए उपचार केंद्र है जिनके घर पर पृथक रहने की व्यवस्था नहीं है.

अधिकारियों का कहना है कि यह दुनिया में इस तरह का सबसे बड़ा केंद्र है. राधा स्वामी सत्संग व्यास के स्वयंसेवक केंद्र के संचालन में सहायता देंगे.