भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया में अपनी शानदार बल्लेबाजी से सुर्खियां बटोरने वाले विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत को पांच दिवसीय प्रारूप में अधिक मौके मिलेंगे. कप्तान ने साथ ही संकेत दिए कि अक्षर पटेल को इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट पदार्पण का मौका मिल सकता है.

भारतीय कप्तान ने साथ ही स्पष्ट किया कि अच्छी बल्लेबाजी कर पाने में सक्षम गेंदबाज चार टेस्ट की श्रृंखला के दौरान उनकी योजनाओं में शीर्ष पर रहेंगे जबकि इंग्लैंड के खिलाफ शुक्रवार से यहां शुरू हो रही टेस्ट श्रृंखला के दौरान रोहित शर्मा और शुभमन गिल की सलामी जोड़ी के साथ ही बरकरार रहने की उम्मीद है.

टीम संयोजन के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा करते हुए कोहली ने कहा, ‘‘हां, ऋषभ कल खेलेगा और विकेटकीपर की भूमिका निभाएगा. हाल में उसने प्रभावी प्रदर्शन किया है और वह अच्छी स्थिति में है और हम चाहते हैं कि वह इसे आगे बढ़ाए और अपने खेल के सभी पहलुओं में सुधार करे.’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह मैच में खेलने के समय और इन मैचों में खेलकर मिलने वाले आत्मविश्वास से होगा, हम ऋषभ को इसी तरह देखते हैं.’’

कप्तान ने साथ ही सीमित ओवरों की टीम से बाहर पंत की तारीफ करते हुए कहा कि इस खिलाड़ी ऑस्ट्रेलिया में कड़ी मेहनत की और इसके नतीजे सभी के सामने हैं. उन्होंने कहा, ‘‘आईपीएल के बाद जब वह ऑस्ट्रेलिया आया तो सीमित ओवरों की टीम का हिस्सा नहीं था. उसने अपनी फिटनेस और खेल पर कड़ी मेहनत जारी रखी और महसूस किया कि अंतत: उसे नतीजे मिल रहे हैं. हम सभी काफी खुश थे.’’

कप्तान ने कहा कि वह गेंदबाजी आलराउंडरों का समर्थन जारी रखेंगे जो घरेलू हालात में टीम की सफलता की कुंजी रहा है. कोहली ने साथ ही कहा कि अगर रविंद्र जडेजा की अनुपस्थिति पर ध्यान दिया जाए तो अक्षर उनकी जगह पर फिट बैठते हैं. उन्होंने कहा, ‘‘इसका कारण यह है कि हमें ऐसा खिलाड़ी चाहिए जिसका कौशल जडेजा की तरह हो, अक्षर खेल के तीनों विभागों में यही चीज लेकर आता है. जड्डू (जडेजा) उपलब्ध नहीं है इसलिए अक्षर को प्राथमिकता मिलेगी क्योंकि वह मैदान पर उसी तरह का कौशल लेकर आता है.’’

कोहली रोहित और गिल की जोड़ी के संदर्भ में अपनी योजनाओं को लेकर भी काफी स्पष्ट दिखे. उन्होंने कहा, ‘‘हम उत्साहित हैं कि सभी चार टेस्ट में उन्हें मौका दें और वे हमें अच्छी शुरुआत दें. टेस्ट मैच जीतने का मुख्य कारण यह था कि उन्होंने आस्ट्रेलिया में जिस तरह की बल्लेबाजी की. हम इस श्रृंखला में इस तरह की चीजों को लेकर उत्सुक हैं.’’

कोहली ने साथ ही संकेत दिया कि चार टेस्ट की घरेलू श्रृंखला में कुलदीप यादव को भी मौके मिलने की उम्मीद है जिन्होंने अपना पिछला पांच दिवसीय मुकाबला जनवरी 2019 में खेला था. उन्होंने कहा, ‘‘कुलदीप को पिछले कुछ समय में लंबे प्रारूप में खेलने का मौका नहीं मिला है. मेरे कहने का मतलब है कि आप दो साल कह सकते हो लेकिन 2020 में हमने अधिक समय तक क्रिकेट नहीं खेला लेकिन अब घरेलू सत्र शुरू होने से वह योजनाओं का हिस्सा होगा. खिलाड़ियों को प्रेरित करने के लिए आपको उन्हें लक्ष्य देने की जरूरत है. ’’

जसप्रीत बुमराह का पहले घरेलू टेस्ट में चुना जाना तय है लेकिन कोहली ने संकेत नहीं दिए कि मोहम्मद सिराज और इशांत शर्मा में से उनका नई गेंद का साझेदार कौन होगा.