कोलंबो, 25 मई (भाषा) कोलंबो के तट के पास पिछले सप्ताह एक कंटेनर पोत पर लगी आग को बुझाने में श्रीलंकाई नौसेना की मदद के लिये भारत ने तटरक्षक बल के दो जहाज और एक विमान रवाना किया है। आग पर काबू पाने के लिए तटीय कमान ने अपने प्रयास तेज कर दिये हैं।

जहाज पर मौजूद – फिलीपीन, चीनी, भारतीय और रूसी नागरिकता वाले- चालक दल के 25 सदस्यों को बचा लिया गया है। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक चालक दल में कम से कम पांच भारतीय हैं।

अधिकारियों ने बताया कि गुजरात में हजीरा से सौंदर्य प्रसाधनों के लिए रसायन और अन्य कच्चा माल कोलंबो बंदरगाह लेकर आए कंटेनर जहाज एमवी ‘एक्स-प्रेस पर्ल’ में 20 मई को तट से 9.5 समुद्री मील दूरी पर आग लग गयी। इसी जगह पर जहाज ने लंगर डाला था।

भारतीय उच्चायोग ने मंगलवार को एक ट्वीट में कहा, “मदद पहुंच रही है! श्रीलंका के अनुरोध पर हमेशा की तरह त्वरित प्रतिक्रिया देते हुए भारत ने आईसीजी वैभव और आईसीजी डॉर्नियर और टग वाटर लिली को आग पर काबू पाने के लिये रवाना किया है।”

जहाज पर लगी आग को बुझाने के लिये एक बड़ा अभियान शुरू किया गया है। नौसेना, बंदरगाह प्राधिकरण और समुद्री पर्यावरण सुरक्षा प्राधिकरण के विशेष दल ने 21 मई को आग से जूझ रहे जहाज पर अग्निशमन के प्रयास शुरू किये थे।

अधिकारियों ने कहा कि मंगलवार सुबह को एक तेज धमाके की आवाज सुनी गई , संभवत: आग अब भी पोत के नीचे के खंड में लगी है जहां नाइट्रिक एसिड को भंडारित किया गया है।

नौसेना ने मंगलवार को जारी किये गए एक बयान में भारत से आ रही मदद की पुष्टि की ।

तेज हवा के कारण आग और भड़की।

इसमें कहा गया, “हालांकि, चालक दल के सदस्यों और आपदा प्रतिक्रिया दल के सदस्यों को अब सुरक्षित किनारे पर लाया जा चुका है।”

बयान के मुताबिक अशांत समुद्र और खराब मौसम के कारण जहाज अब दाएं तरफ झुक गया है। इसके फलस्वरूप जहाज पर रखे कुछ कंटेनर समुद्र में गिरकर डूब गए।

नौसेना ने कहा कि उसने मछुआरों से इस जगह से दूर रहने को कहा है।

इस जहाज से क्योंकि रसायन लाए जा रहे थे ऐसे में समुद्री पर्यावरण प्रदूषण प्राधिकरण ने लोगों को चेतावनी दी है कि वे पोत कि किसी भी सामग्री या पैकेज को न छुएं जो हो सकता है समुद्र में बहते हुए कोलंबो या नेगोंबो के पश्चिमी तटीय इलाकों तक पहुंच जाएं।

नौसेना ने कहा कि आग को पूरी तरह बुझाने का प्रयास जारी है।

नौसेना ने कहा है कि आग पर काबू पाने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं। अभियान के दौरान आठ मालवाहक कंटेनर समुद्र में गिर गए।

नौसेना के प्रवक्ता कैप्टन इंडिका डे सिल्वा ने बताया कि रासायनिक प्रतिक्रिया के कारण आग लगी।

यह पोत सिंगापुर में पंजीकृत है।

भाषा

प्रशांत माधव

माधव