भारत और इंग्लैंड (India vs England) के बीच पांच मैचों की सीरीज का चौथा टेस्ट खेला जा रहा है. यह मैच लंदन के द ओवल के मैदान में खेला जा रहा है. इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया. वहीं, टीम इंडिया पहले बल्लेबाजी करने उतरी लेकिन तीसरे टेस्ट की तरह ही भारतीय बल्लेबाज ज्यादा देर तक मैदान में समय नहीं बिता पा रहे हैं. टी ब्रेक तक टीम इंडिया के 6 विकेट गिर चुके हैं. और 51 ओवर में टीम इंडिया का स्कोर मात्र 122 रन है.

टीम इंडिया की ओर से रोहित शर्मा और केएल राहुल ओपनिंग करने आए लेकिन रोहित शर्मा 11 रन बनाकर पवेलियन लौट गए. वहीं, जल्द ही केएल राहुल भी 17 बनाकर रॉबिनसन का शिकार हो गए. वहीं, इसके बाद चेतेश्वर पुजारा मैदान पर पहुंचे लेकिन उन्होंने भी कोई कमाल नहीं दिखाया और 4 रन बनाकर वापस एंड्रसन की गेंद पर कैच थमा बैठे.

यह भी पढ़ेंः ENG ने टॉस जीतकर गेंदबाजी चुनी, उमेश यादव और शार्दुल ठाकुर टीम में, अश्विन अभी भी बाहर

हालांकि, कप्तान विराट कोहली ने पारी को संभालने की पूरी कोशिश की और उन्होंने 96 गेदों में 50 रन का स्कोर पूरा किया लेकिन अर्धशतक पूरा करते हुए रॉबिनसन की गेंद पर बैरिस्टो को कैच थमा बैठे और पवेलियन लौट गए.

वहीं, रविंद्र जडेजा भी मात्र 10 रन बना कर वापस पवेलियन लौट गए. इसके बाद रहाणे भी 14 रन बनाकर आउट हो गए. अब क्रीज पर ऋषभ पंत और शर्दुल ठाकुर खेल रहे हैं.

यह भी पढ़ें: ENGvIND: ओवल में पिछले 50 साल में जो न हो सका, वो करने पर उतारू है विराट ब्रिगेड

आपको बता दें, टीम इंडिया का रिकॉड ओवल के मैदान में काफी खराब रहा है. टीम इंडिया द ओवल (1936-2018) में अब तक 13 टेस्ट मैच खेल चुकी है, जिसमें से 5 में उसे हार मिली है. इस दौरान 7 मुकाबले ड्रॉ रहे और 1 मैच में उसे जीत मिली. भारतीय टीम को यहां एकमात्र जीत साल 1971 में मिली है, यानी 50 साल से वह इस मैदान पर टेस्ट मैच नहीं जीत पाई है. टीम इंडिया के पास इतिहास बदलने का मौका है. लेकिन टीम इंडिया पहली पारी में जिस तरह से बल्लेबाजी कर रहे हैं उससे ये अब असंभव होता दिख रहा है.

तीसरे टेस्ट में टीम इंडिया ने पहली पारी में मात्र 78 रन बनाए थे. इसके बाद इंग्लैंड ने टीम इंडिया को 350 से अधिक रनों की बढ़त दी थी और टीम इंडिया मैच हार गई थी.

यह भी पढ़ें: इंग्लैंड के खिलाफ चौथे टेस्ट में कोहली-रोहित के पास 'विराट' रिकॉर्ड बनाने का मौका