नयी दिल्ली, 22 मई (भाषा) एमसी मेरीकोम (51 किग्रा) और अमित पंघाल (52 किग्रा) जैसे स्टार खिलाड़ियों की मौजूदगी वाली भारतीय मुक्केबाजी टीम एशियाई मुक्केबाजी चैंपियनशिप में हिस्सा लेने के लिए ‘जैविक रूप से सुरक्षित माहौल’ वाले विमान में दुबई पहुंची जिसे प्रशासनिक कागजी कार्रवाई के कारण लैंडिंग में विलंब के चलते निर्धारित समय से अधिक हवा में रहना पड़ा।

सोमवार को शुरू होने वाली इस प्रतियोगिता का ड्रॉ रविवार को होगा। दुनिया भर में कोविड-19 के कारण लागू पाबंदियों के कारण जुलाई-अगस्त में होने वाले ओलंपिक से पहले यह मुक्केबाजों के लिए एकमात्र बड़ी प्रतियोगिता है।

टीम शुक्रवार शाम दुबई पहुंची।

टीम के करीबी सूत्र ने पीटीआई को बताया, ‘‘इस दौरे की स्वीकृति के पत्र को लेकर कुछ भ्रम था जिसे अंतत: यूएई में भारतीय दूतावास के हस्तक्षेप के बाद सुलझा लिया गया। विमान को कुछ अधिक समय हवा में रहना पड़ा लेकिन अब मुक्केबाज अपने होटल पहुंच गए हैं।’’

भारतीय मुक्केबाजी महासंघ ने बयान जारी करके यूएई में भारतीय राजदूत को उनकी सहायता के लिए धन्यवाद दिया लेकिन यह नहीं बताया कि विमान की लैंडिंग में विलंब क्यों हुआ।

बयान के अनुसार, ‘‘भारतीय दल दुबई में उतरने के बाद होटल पहुंच गया है। दो दौर के आरटी-पीसीआर परीक्षण हुए है- एक हवाई अड्डे पर और दूसरा होटल में। सभी जरूरी स्वीकृति के साथ भारतीय टीम स्पाइसजेट के विमान से जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में पहुंची थी।’

बयान में कहा गया, ‘‘भारतीय मुक्केबाजी महासंघ भारतीय दूतावास और राजदूत पवन कपूर का आभारी है जिनकी मदद से दल का 2021 एएसबीसी एशियाई चैंपियनशिप में हिस्सा लेना सुनिश्चित हुआ। हम एशियाई मुक्केबाजी परिसंघ और यूएई सरकार के भी आभारी हैं।’’

भारत की 10 सदस्यीय महिला टीम की अगुआई मेरीकोम कर रही हैं जबकि टीम में ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर चुकी तीन मुक्केबाजों सिमरनजीत कौर (60 किग्रा), लवलीना बोरगोहेन (69 किग्रा) और पूजा रानी (75 किग्रा) को भी जगह मिली है।

पुरुष टीम में ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाले दो मुक्केबाजों मनीष कौशिक (63 किग्रा) और सतीश कुमार (+91 किग्रा) को जगह नहीं मिली है। ये दोनों कोविड-19 से उबर रहे हैं। तोक्यो खेलों के लिए पांच भारतीय पुरुष मुक्केबाजों ने क्वालीफाई किया है।

भाषा सुधीर आनन्द

आनन्द