नयी दिल्ली, 22 मई (भाषा) विश्व कप 2022 और एशियाई कप 2023 के संयुक्त क्वालीफिकेशन मैचों के लिए कतर पहुंची भारतीय फुटबॉल टीम के सभी खिलाड़ियों और सहयोगी सदस्यों ने कोविड-19 जांच में नेगेटिव आने के बाद अभ्यास शुरू कर दिया है।

कप्तान सुनील छेत्री की अगुवाई में टीम बुधवार को दोहा पहुंचने के बाद अभ्यास शिविर में भाग लेने से पहले आरटी-पीसीआर जांच के नतीजे आने तक अनिवार्य पृथकवास पर थी।

अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ के महासचिव कुशल दास ने पीटीआई-भाषा को बताया, ‘‘ हां, सभी 28 खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ वहां पहुंचने के बाद की गयी जांच में नेगेटिव आये है।’’

छेत्री की वापसी से उत्साहित भारतीय टीम मेजबान कतर के खिलाफ तीन जून को अपने शुरुआती मैच से पहले यहां एक बायो-बबल (जैव-सुरक्षित) के अंदर अभ्यास शिविर में भाग लेगी। भारत को अन्य दो मैच बांग्लादेश (सात जून) और अफगानिस्तान (15 जून) के खिलाफ खेलने हैं।

कतर फुटबॉल संघ से अच्छे सहयोग के कारण भारतीय टीम को 10 दिनों के कड़े पृथकवास पर नहीं रहना पड़ा और टीम ने कोविड-19 जांच की नेगेटिव रिपोर्ट आने के बाद अभ्यास शुरू कर दिया।

अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ ने मुख्य कोच इगोर स्टिमक की देखरेख में खिलाड़ियों के अभ्यास की तस्वीर को साझा करते हुए ट्वीट किया, ‘‘आगे की चुनौतियों के लिए तैयारी कर रहे है। कल रात दोहा, कतर में ब्लू टाइगर्स (भारतीय फुटबॉल टीम) ने अभ्यास किया। यह उनका पहला सत्र था।’’

कोविड-19 महामारी के कारण इन मैचों को दोहा में खेला जाएगा और इसे घरेलू तथा दूसरी टीम के मैदान पर मैचों के मूल प्रारूप में नहीं खेला जा रहा है।

भारतीय टीम ग्रुप ई में तीन अंकों के साथ चौथे स्थान पर है। टीम विश्व कप के लिए क्वालीफाई करने की दौड़ से बाहर हो गयी है लेकिन 2023 एशियाई कप में जगह बनाने की संभावना अभी बची हुई है।

भारतीय टीम को दो मई से कोलकाता में अभ्यास शिविर में भाग लेना था लेकिन देश में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के कारण उसे रद्द कर दिया गया था। टीम को दुबई में मैत्री मुकाबले खेलने थे लेकिन बाद में वे भी रद्द कर दिये गये।

भाषा आनन्द पंत

पंत