नासा के पहले मार्स हेलीकॉप्टर का नाम भारतीय मूल की वनीजा रुपाणी ने रखा हैं. उन्होंने नासा के नेम द रोवर कॉन्टेस्ट में हिस्सा लिया था. वह अल्बामा के नॉर्थपोर्ट स्थित हाई स्कूल में पढ़ती हैं.

बता दें कि वनीजा के सुझाए नाम के आधार पर मार्स हेलीकॉप्टर का नाम इंजिन्यूटी (Ingenuity)रख दिया गया. नासा ने मार्च में घोषणा की थी कि वह अपने दूसरे रोवर का नाम परसेवरेंस रखेंगे. इस रोवर का नाम सातवीं क्लास के बच्चे एलेक्जेंडर माथर के निबंध के आधार पर रखा गया है. इसके बाद एजेंसी ने मार्च हेलीकॉप्टर का नाम भी कॉन्टेस्ट के आधार पर रखने का फैसला किया था.

नासा ने इस बारे में ट्वीट किया था कि, हमारे मार्स हेलीकॉप्टर का नया नाम इंजिन्यूटी है. वनीजा रुपाणी ने नेम द रोवर प्रतियोगिता में यह नाम सुझाया था. इंजिन्यूटी मार्स की सवारी करेगा और दूसरी दुनिया में उड़ान भरेगा.

नासा ने इस संबंध में प्रेस रिलीज भी जारी की थी. वनीजा ने लिखा था कि इंजिन्यूटी और कड़ी मेहनत करने वालों की समझदारी की वजह से हम अंतरिक्ष के चमत्कारों को अनुभव कर पाते हैं. इंजिन्यूटी वो है जिसकी मदद से हम आश्चर्यजन चीजों का अनुभव कर पाते हैं और ब्रह्मांड के किनारों तक पहुंच पाते हैं

बताया जाता है कि इंजिन्यूटी (Ingenuity) और परसेवरैंस (Perseverance) को इस साल जुलाई में लॉन्च किया जाएगा और अगले साल फरवरी में मार्स पर लैंड करेंगे.