रेल मंत्री पीयूष गोयल के मुम्बई में लोकल ट्रेनों में महिलाओं को यात्रा करने की अनुमति देने के एक दिन बाद पश्चिमी रेलवे ने उपनगरीय नेटवर्क पर चार और ‘लेडीज स्पेशल’ ट्रेनें चलाने का ऐलान किया है.

अधिकारियों ने बताया कि गैर-व्यस्त घंटों में महिलाएं अन्य ट्रेनों में भी यात्रा कर सकती हैं.

रेलवे अधिकारियों ने 15 जून से महानगर में लोकल ट्रेन सेवाएं शुरू कर दी थीं. अभी तक केवल आवश्यक सेवाओं में कार्यरत लोग ही इनमें यात्राएं कर रहे थे.

रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि चार और ‘लेडीज स्पेशल’ ट्रेनों के चलने के बाद अब पश्चिमी रेलवे (WR) महिलाओं के लिए कुल छह विशेष ट्रेनें चला रहा है.

उन्होंने बताया कि इसके अलावा मध्य रेलवे (CR) कुल 706 लोकल ट्रेनें चला रहा है, जिनमें से चार ‘लेडीज स्पेशल’ हैं.

रेल प्राधिकरण ने सीआर और डब्ल्यू आर मार्गों पर बुधवार से सुबह 11 से दोपहर तीन बजे और शाम सात बजे के बाद से महिलाओं को यात्रा करने की अनुमति दे दी है.

गौरतलब है कि महाराष्ट्र सरकार ने 16 अक्टूबर को रेलवे से आग्रह किया था कि गैर व्यस्त घंटों में महिला यात्रियों को लोकल ट्रेन सेवा का इस्तेमाल करने की इजाजत दी जाए. इसके बाद महाराष्ट्र सरकार ने एक और पत्र लिख रेल अधिकारियों से कहा था कि राज्य के अनुरोध पर जल्द से जल्द विचार किया जाए. इसके बाद गोयल ने मंगलवार को महिलाओं को यात्रा करने की अनुमति देने की घोषणा की थी.