आस्ट्रेलिया में नेट गेंदबाज के तौर पर आये तेज गेंदबाज थंगारासु नटराजन शुक्रवार को एक ही दौरे पर तीनों प्रारूपों में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करने वाले पहले भारतीय क्रिकेटर बन गए .

तमिलनाडु के इस 29 वर्षीय क्रिकेटर को आस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे और आखिरी टेस्ट में प्रमुख खिलाड़ियों के चोटिल होने के कारण अंतिम एकादश में जगह मिली. उन्होंने दो दिसंबर को कैनबरा में दूसरे एक दिवसीय मैच में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था. भारत ने वह मैच 13 रन से जीता था. नटराजन ने दस ओवर में 70 रन देकर दो विकेट लिये थे. इसके बाद तीन मैचों की टी20 श्रृंखला में भी वह भारतीय टीम का हिस्सा थे जिसमें उन्होंने छह विकेट लिये थे. भारत ने वह श्रृंखला 2.1 से जीती.

आईसीसी ने ट्वीट किया ,‘‘टेस्ट क्रिकेट में स्वागत है. थंगारासु नटराजन एक ही दौरे पर तीनों प्रारूपों में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करने वाले पहले भारतीय बने.’’ तमिलनाडु के इस तेज गेंदबाज की मां दिहाड़ी मजदूर का काम कर करती थी. उन्होंने टेस्ट पदार्पण के पहले दिन 20 ओवर में 63 रन देकर दो विकेट लिये.

भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने ट्वीट किया, ‘‘सपने पूरे होते है. भारतीय टीम के 300वें खिलाड़ी बने नटराजन के लिए एक आदर्श तिहरा. उनके लिए इससे बेहतर स्थिति नहीं हो सकती थी. नाटू (नटराजन) अब तीनों प्रारूप के खिलाड़ी बन गये है.’’