नयी दिल्ली, 26 मई (भाषा) भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) ने राष्ट्रीय महासंघों से टीकाकरण करवाने वाले उन खिलाड़ियों और अधिकारियों का ब्यौरा मांगा है जो 23 जुलाई से शुरू होने वाले ओलंपिक खेलों के ​लिये तोक्यो जाने वाले हैं।

आईओए अध्यक्ष नरिंदर बत्रा और महा​सचिव राजीव मेहता ने कहा कि उन्हें गुरुवार तक अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) को ब्यौरा सौंपना है।

अभी तक भारत से विभिन्न खेलों के 90 से अधिक खिलाड़ियों ने एक साल के लिये स्थगित किये गये तोक्यो ओलंपिक के लिये क्वालीफाई किया है।

आईओए ने राष्ट्रीय खेल महासंघों (एनएसएफ) से प्रश्नावली का जवाब देने के लिये कहा है जिसमें आठ सवाल हैं।

इस प्रश्नावली में टीकाकरण करने वाले खिलाड़ियों और अधिकारियों की संख्या, पहला टीका लेने की तिथि, अगला टीका लगाने की तिथि और टीका का नाम आदि शामिल हैं।

एनएसएफ को यह भी बताने के लिये कहा गया है कि उनके खिलाड़ी और अधिकारी किस स्थान या देश से तोक्यो जाएंगे और तोक्यो रवाना होने से पहले वे वहां कितना समय बिताएंगे।

आईओए ने एनएसएफ से यह भी बताने के लिये कहा है कि क्या उन्होंने अपने खिलाड़ियों को कोविड—19 दिशानिर्देशों से अच्छी तरह अवगत करा दिया है तथा क्या वे अपने खिलाड़ियों और अधिकारियों के लिये अतिरि​क्त और विशेष सतर्कता बरत रहे हैं।

महासंघों को यह भी बताना होगा कि उनके दल में कितने सदस्य होंगे और क्या उनकी जापान में खेलों से पहले अभ्यास शिविर लगाने की योजना है।

ओलंपिक खेलों के लिये तोक्यो जाने वाले जजों, अंपायरों, रैफरी और तकनीकी अधिकारियों के टीकाकरण का ब्यौरा देने के लिये भी कहा गया है।

आईओए ने हाल में कहा था कि अभी तक कुल 148 खिलाड़ियों ने कोविड—19 का कम से कम पहला टीका लगवा लिया है। इनमें ओलंपिक के लिये तोक्यो जाने वाले खिलाड़ी भी शामिल हैं।