राजस्थान रॉयल्स के कप्तान स्टीव स्मिथ ने इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में शुक्रवार को यहां किंग्स इलेवन पंजाब को सात विकेट से हराकर प्लेऑफ में जगह बनाने की उम्मीदें जीवंत रखने के बाद कहा कि उनकी टीम शायद सही समय पर अपना शीर्ष खेल दिखा रही है लेकिन टूर्नामेंट के बीच में अगर कुछ और जीत दर्ज करती तो बेहतर होता.

किंग्स इलेवन पंजाब के 186 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए रॉयल्स ने बेन स्टोक्स (50), संजू सैमसन (48), कप्तान स्टीव स्मिथ (नाबाद 31) और रोबिन उथप्पा (30) की पारियों की बदौलत 17.3 ओवर में तीन विकेट पर 186 रन बनाकर आसान जीत दर्ज की. जोस बटलर भी 11 गेंद में 22 रन बनाकर नाबाद रहे.

इससे पहले क्रिस गेल ने दो जीवनदान का फायदा उठाते हुए 63 गेंद में आठ छक्कों और छह चौकों से 99 रन की पारी खेलने के अलावा लोकेश राहुल (46) के साथ दूसरे विकेट के लिए 120 रन की साझेदारी की जिससे पंजाब की टीम ने चार विकेट पर 185 रन बनाए.

रॉयल्स की टीम ने लगातार दो जीत से शुरुआत की और आज उसने लगातार दूसरी जीत दर्ज की लेकिन स्मिथ ने कहा कि बीच के ओवरों में कुछ और जीत दर्ज करते तो बेहतर होता.

स्मिथ ने मैच के बाद कहा, ‘‘हमारे लिए यह टूर्नामेंट उतार चढ़ाव भरा रहा. बीच के टूर्नामेंट में अगर कुछ और जीत दर्ज करते तो बेहतर रहता. हमें प्ले आफ में जगह बनाने के लिए अब भी बेहतर खेल दिखाना होगा और साथ ही चीजें हमारे पक्ष में होनी चाहिए.’’

उन्होंने कहा, ‘‘हम लगातार दो जीत दर्ज कर चुके हैं और शायद सही समय पर अपना शीर्ष खेल दिखा रहे हैं.’’

स्मिथ ने कहा कि सैमसन का रन आउट होना निराशाजनक था लेकिन हर स्थिति के सकारात्मक पक्ष देखने की कोशिश करनी चाहिए.

उन्होंने कहा, ‘‘सैमसन का रन आउट होना दुर्भाग्यपूर्ण था लेकिन आप हर स्थिति के सकारात्मक पक्ष देखते हो. इससे जोस बटलर को पांच दिन बाद बल्लेबाजी का मौका मिला. उसने अच्छे शॉट खेले जो अच्छा संकेत है.’’

स्मिथ ने स्टोक्स और सैमसन की जमकर तारीफ करते हुए कहा, ‘‘बेन विश्व स्तरीय खिलाड़ी है, वह सही शॉट खेलता है, गेंद को हर जगह मारने में सक्षम है और गेंद से भी अपना काम करता है. दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में से एक. संजू ने टूर्नामेंट की शानदार शुरुआत की पर बीच के मैचों में रन नहीं बना सका लेकिन टी20 क्रिकेट में ऐसा होता है.’’

स्मिथ ने साथ ही स्वीकार किया कि उनकी टीम को टॉस जीतने का फायदा मिला जबकि पंजाब के कप्तान राहुल ने कहा कि उन्हें इसका खामियाजा भुगतना पड़ा क्योंकि बाद में पिच बल्लेबाजी के लिए काफी आसान हो गई थी.

राहुल ने मैच के बाद कहा, ‘‘टॉस गंवाना काफी निराशाजनक रहा क्योंकि बाद में काफी ओस गिरी. बाद में बल्लेबाजी करना बेहद आसान हो गया. कलाई के स्पिनर चाहते हैं कि गेंद सूखी रहे और सतह से गेंद ग्रिप हो लेकिन ओस के कारण यह काफी मुश्किल हो गया. हालांकि जब हम बल्लेबाजी कर रहे थे तो यह बुरा स्कोर नहीं था.’’

राहुल ने कहा कि उनके गेंदबाजों ने खराब गेंदबाजी नहीं की.

उन्होंने कहा, ‘‘हमने खराब गेंदबाजी नहीं की लेकिन हमें गीली गेंद के साथ बेहतर गेंदबाजी करना सीखना होगा. ओस की भविष्यवाणी नहीं की जा सकती. हमने मैदानकर्मियों के साथ बात की थी और उन्होंने कहा था कि पिछले मैच में ओस नहीं थी. आप इसके लिए तैयारी नहीं कर सकते. बस आपको सामंजस्य बैठाना होगा.’’