किंग्स इलेवन पंजाब के कप्तान लोकेश राहुल ने जीत का श्रेय टीम को देते हुए तारीफ की. उन्होंने कहा कि रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (आरसीबी) के खिलाफ इंडियन प्रीमियर लीग मैच से पहले वह अपनी बल्लेबाजी को लेकर बहुत आश्वस्त नहीं थे. राहुल ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में भारतीय खिलाड़ियों में सर्वोच्च स्कोर का रिकार्ड बनाया.

केएल राहुल ने बनाया रिकॉर्ड

केएल राहुल ने नाबाद 132 रन बनाये जिससे किंग्स इलेवन ने पहले बल्लेबाजी का न्यौता मिलने पर तीन विकेट पर 206 रन बनाये और फिर आरसीबी की टीम 17 ओवर में 109 रन पर आउट करके 97 रन से बड़ी जीत दर्ज की. राहुल ने हालांकि जीत का श्रेय पूरी टीम को दिया. अपनी शानदार पारी के लिये मैन आफ द मैच बने राहुल ने कहा, ‘‘यह टीम के लिहाज से संपूर्ण प्रदर्शन था इसलिए खुश हूं. असल में मैं अपनी बल्लेबाजी को लेकर आश्वस्त नहीं था. कल मेरी मैक्सी (ग्लेन मैक्सवेल) से बात हुई थी और मैंने कहा था कि मुझे अपनी बल्लेबाजी पर पूरा नियंत्रण नहीं लग रहा है. उसने कहा कि तुम मजाक कर रहे हो. तुम बहुत अच्छी तरह से हिट कर रहे हो.’’

उन्होंने कहा, ‘‘शुरू में मैं थोड़ा नर्वस था लेकिन मैं जानता था कि कुछ गेंदें खेलने के बाद मैं लय हासिल कर लूंगा. कप्तान होने के बावजूद मैं पुराना रूटीन ही अपनाता हूं. टॉस तक मैं खुद को खिलाड़ी ही समझना चाहता हूं कप्तान नहीं. मैं खिलाड़ी और कप्तान के बीच संतुलन बनाने की कोशिश करता हूं.’’ राहुल ने अपने गेंदबाजों विशेषकर युवा लेग स्पिनर रवि बिश्नोई की प्रशंसा की.

उन्होंने कहा, ‘‘मैंने उसे अंडर-19 विश्व कप में देखा है. वह हार नहीं मानता और जब भी उसे गेंद दो तैयार रहता है. वह आरोन फिंच और एबी (डिविलियर्स) को गेंदबाजी करने को लेकर थोड़ा नर्वस था लेकिन उसने जज्बा दिखाया. ’’