इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन में किंग्स इलेवन पंजाब ने मुंबई इंडियन्स को दूसरे सुपर ओवर में मात दी है. मुंबई और पंजाब के बीच हुए सुपर ओवर मुकाबला रहा और मुंबई ने भी सुपर ओवर में 5 रन बनाएं. सुपर ओवर में मयंक अग्रवाल के शानदार क्षेत्ररक्षण के बाद लगातार दो चौके के दम पर किंग्स इलेवन पंजाब ने इंडियन प्रीमियर लीग में पहली बार दूसरे सुपर ओवर तक चले मैच में मुंबई इंडियन्स को हराकर दो अंक हासिल किये.

इस जीत के साथ पंजाब की टीम नौ मैचों में छह अंक के साथ छठे स्थान पर पहुंच गयी. मुंबई इतने ही मैचों में 12 अंक के साथ दूसरे स्थान पर है. रोमांच की प्रकाष्ठा पर पहुंचा यह मैच 20-20 ओवर के खेल के बाद टाई रहा. इसके बाद सुपर ओवर में भी दोनों टीमों ने एक समान पांच-पांच रन बनाये. दूसरे सुपर ओवर में मुंबई के लिए कीरोन पोलार्ड और हार्दिक पंड्या बल्लेबाजी के लिए आये जबकि पंजाब के लिए क्रिस जोर्डन ने गेंदबाजी की.

मुंबई ने इस ओवर में पंड्या का विकेट गंवाकर 11 रन बनाये. इस दौरान पोलार्ड आखिरी गेंद पर बड़ा शॉट खेले लेकिन बाउंड्री पर मयंक अग्रवाल ने शानदर क्षेत्ररक्षण से छह रन को दो रन में बदल दिया. पंजाब को जीतने के लिए 12 रन का लक्ष्य मिला था जिसके लिए मयंक अग्रवाल और क्रिस गेल बल्लेबाजी के लिए आये जबकि मुंबई के लिए ट्रेंट बोल्ड गेंदबाजी करने आये. गेल ने पहली गेंद पर ही छक्का लगाकर मुंबई पर दबाव बना दिया. गेल ने दूसरी गेंद पर एक रन लिया लेकिन मयंक ने तीसरी और चौथी गेंद पर चौका लगाकर टीम को जीत दिलायी.

पहले सुपर ओवर में मुंबई के लिए जसप्रीत बुमराह और पंजाब के लिए मोहम्मद शमी ने कमाल की गेंदबाजी की. दोनों ने इस सुपर ओपर में सिर्फ पांच-पांच रन दिये. बुमराह ने इससे पहले मैच में भी चार ओवर में 24 रन देकर तीन विकेट लेकर मैच का रूख पलटा था. उन्होंने मयंक अग्रवाल, और निकोलस पूरन के बाद शानदर लय में चल रहे लोकेश राहुल का भी विकेट लिया. दिलचस्प बात यह रही कि रविवार को हुए दोनों मुकाबलों का नतीजा सुपर ओवर से निकला. दिन वाले मैच में कोलकाता नाइट राइडर्स ने सुपर ओवर में सनराइजर्स हैदराबाद को हराया था.

मुंबई ने टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी करते हुए छह विकट पर 176 रन बनाये . टीम के लिए क्विंटन डिकॉक (53) की अर्धशतकीय पारी के बाद आखिरी ओवरों में कीरोन पोलार्ड (12 गेंद में नाबाद 34) और नाथन कुल्टर-नील (12 गेंद में नाबाद 24) की आतिशी बल्लेबाजी से मुंबई चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया. पोलार्ड और कुल्टर-नील ने आखिरी 21 गेंद में 57 रन की नाबाद साझेदारी की. लक्ष्य का पीछा करते हुए राहुल की 51 गेंद में 77 रन की पारी के बाद भी पंजाब की टीम 20 ओवर में 176 रन ही बना सकी. राहुल की यह लगातार तीसरी अर्धशतकीय पारी रही.

पंजाब को 20वें ओवर में जीतने के लिए नौ रन चाहिये थे लेकिन अनुभवी ट्रेट बोल्ट ने दीपक हुड्डा और क्रिस जोर्डन को सिर्फ आठ रन बनाने दिये. आखिरी गेंद में पंजाब को दो रन चाहिये थे लेकिन दूसरा रन लेने की कोशिश में जोर्डन आउट हो गये और 20 ओवर के बाद मैच टाई हो गया.  लक्ष्य का पीछा करते हुए राहुल ने तीसरे ओवर में ट्रेंट बोल्ट के खिलाफ तीन चौके और एक छक्का लगाकर इस ओवर से 20 रन बटोरे. जसप्रीत बुमराह ने हालांकि अपने पहले ओवर की तीसरी गेंद पर मयंक अग्रवाल को बोल्ड कर टूर्नामेंट की सबसे सफल सलामी जोड़ी को तोड़ा. उन्होंने 10 गेंद में 11 रन बनाये.

गेल ने इसके बाद कुल्टर-नील पर छक्का लगाकर हाथ खोला तो वहीं राहुल ने बोल्ट के खिलाफ एक फिर आक्रामक रूख अपनाते हुए छठे ओवर में छक्का और चौका जड़ा. पावरप्ले के बाद टीम एक विकेट पर 51 रन बनाकर बेहतर स्थिति में थी. राहुल चाहर की गेंद पर छक्का लगाने के चक्कर में गेल बोल्ट को कैच थमा बैठे. उन्होंने 21 गेंद में दो छक्के और एक चौका की मदद से 24 रन बनाये.

इसके बाद क्रीज पर आये पूरन ने चाहर और पोलार्ड के खिलाफ बड़े शॉट लगाये लेकिन वह बुमराह की चुनौती से पार नहीं पा सके और 13वें ओवर में कुल्टर-नील को कौच थमा बैठे. उन्होंने 12 गेंद में दो चौके और इतने ही छक्कों की मदद से 24 रन बनाये. राहुल ने 14वें ओवर की पहली गेंद पर चाहर के खिलाफ छक्का लगाकर 35 गेंद में अर्धशतक पूरा किया लेकिन इसके दो गेंद बार उन्होंने ग्लेन मैक्सवेल को खाता खोले बगैर चलता कर दिया.

राहुल को इसके बाद दीपक हुड्डा का अच्छा साथ मिला और दोनों ने 17 ओवर में टीम के स्कोर को 150 रन तक पहुंचा दिया. बुमराह ने हालांकि 18वें ओवर में राहुल को बोल्ड कर पंजाब की उम्मीदों को तगड़ा झटका दिया. इस ओवर में सिर्फ चार रन बने. इससे पहले टॉस गवांने के बाद पंजाब के कप्तान लोकेश राहुल ने एक बार फिर गेंदबाजी की शुरूआत ग्लेन मैक्सवेल (चार ओवर में बिना किसी सफलता के 24 रन) से कराई जिसमें उन्होंने सिर्फ छह रन दिये. पिछले मैच में नाबाद अर्धशतकीय पारी खेल कर मुंबई को जीत दिलाने वाले डिकॉक ने अर्शदीप सिंह पर छक्का लगाकर लय को बरकरार रखने का संकेत दिया. इस युवा गेंदबाज ने हालांकि इसी ओवर में रोहित को बोल्ड कर दिया. उन्होंने आठ गेंद में नौ रन बनाये.

शमी ने इसके बाद सूर्यकुमार यादव (शून्य) और अर्शदीप ने इशान किशन (07) को पवेलियन भेजा. दोनों का कैच मुरुगन अश्विन ने पकड़ा. इसके बाद बल्लेबाजी के लिए आये कृणाल पंड्या ने डिकॉक का अच्छा साथ दिया और दोनों ने एक-एक रन चुराने के अलावा बीच-बीच में बाउंड्री भी लगाये. इस खतरनाक होती जोड़ी को रवि बिश्नोई ने कृणाल का विकेट चटका कर तोड़ा. उन्होंने 30 गेंद में 34 रन बनाने के अलावा डिकॉक के साथ चौथे विकेट के लिए 58 रन की साझेदारी भी की.

डिकॉक ने 15वें ओवर में अश्विन के खिलाफ चौका और छक्का लगाने के बाद एक रन लेकर 39 गेंद में अपना अर्धशतक पूरा किया. अगले ही ओवर में हार्दिक (08) शमी का दूसरा शिकार बने. पारी के 17वें ओवर में जोर्डन ने डिकॉक काो पवेलियन भेजा. पोलार्ड ने 18वें ओवर में अर्शदीप सिंह के खिलाफ लगातार दो छक्के लगाकर मुंबई की रनगति को तेज की. इस ओवर में नाथन कुल्टर-नील ने भी दो चौके लगाये. मुंबई ने इस ओवर में 22 रन बटोरे. पोलार्ड ने इसके बाद आखिरी ओवर में जोर्डन के खिलाफ भी दो छक्के और एक चौका लगाकर 20 रन बटोरे. पंजाब के लिए शमी और अर्शदीप सिंह ने दो दो विकेट लिये .