वियना, 25 मई (एपी) वैश्विक शक्तियों ने मंगलवार को ईरान के साथ पांचवें चरण की वार्ता बहाल की, जिसका मकसद अमेरिका को वर्ष 2015 के महत्वपूर्ण परमाणु समझौते में वापस लाना है।

इस समझौते के जरिए ईरान को परमाणु बम हासिल करने से रोकना है।

संयुक्त राष्ट्र की परमाणु निगरानी संस्था अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी द्वारा ईरान के परमाणु स्थलों की निगरानी के लिए कैमरे लगाए जाने के समझौते को एक महीने का विस्तार देने के लिए अंतिम समय पर होने वाले समझौते के एक दिन बाद वियना में यह वार्ता बहाल हुई है।

यह मुद्दा परमाणु समझौते को लेकर वर्तमान में जारी वार्ता से सीधे पर संबंधित नहीं था।

अमेरिका सीधे तौर पर वार्ता में शामिल नहीं है। हालांकि, ईरान को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के विशेष दूत रॉब मैले के नेतृत्व में एक अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल वियना में मौजूद है।

वहीं, जर्मनी, फ्रांस, ब्रिटेन, रूस और चीन जैसी शक्तियों के प्रतिनिधिमंडल अमेरिका और ईरान के बीच सीधी बातचीत का रास्ता तैयार करने का प्रयास कर रहे हैं।