इनकम टैक्स विभाग ने ऑनलाइन टैक्स फाइलिंग के लिए विशेष पोर्टल बनाया है, जिसके जरिए टैक्सपेयर खुद रिजस्टर कर इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) ई-फाइलिंग अकाउंट बना सकते हैं. इस अकाउंट के जरिए अलग-अलग सेवाओं का लाभ ले सकते हैं. हालांकि, आधुनिक टेक्नोलॉजी की दुनिया में साइबर क्राइम घटना बढ़ गई है. ऐसे में आपको सावधानी बरतने की जरूरत है.

CBDT भी अपने टैक्स पेयरों को ITR फाइलिंग अकाउंट को सावधानी से इस्तेमाल करने की सलाह देता है. हालांकि, अगर आपके अकाउंट के साथ किसी तरह की छेड़छाड़ हो रही है या अकाउंट का गलत इस्तेमाल हुआ है तो आप इसकी शिकायत दर्ज करा सकते हैं.

ITR ई-फाइलिंग पोर्टल (www.incometaxindiaefiling.gov.in/home) पर दिए गए निर्देश के मुताबिक, अगर आपका अकाउंट किसी दूसरे के द्वारा लॉग इन किया गया है तो आप साइबर क्राइम के शिकार हो सकते हैं. इसके लिए आपको तुरंत रिपोर्ट करनी चाहिए. इसके लिए सबसे पहले आपको पुलिस या साइबर सेल को इसकी सूचना देनी चाहिए.

इसके अलावा आप भारत सरकार की ऑनलाइन सेवा cybercrime.gov.in पर भी शिकायत दर्ज करा सकते हैं.

हालांकि, सावधानी के तौर पर आपको भी अपने अकाउंट की जानकारी किसी से साझा नहीं करनी चाहिए. अकाउंट का लॉग इन और पासवर्ड किसी से शेयर न करें.