(ललित के. झा)

वाशिंगटन, 27 मई (भाषा) विदेश मंत्री एस जयशंकर बुधवार को वाशिंगटन डीसी पहुंचे, जहां वह अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन के प्रशासन के शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठकें करेंगे।

इस दौरान, बाइडन प्रशासन के पहले 100 दिनों के दौरान द्विपक्षीय संबंधों में हुई प्रगति की समीक्षा करने और बाइडन के शेष कार्यकाल के लिए आधार तैयार करने की उम्मीद है।

वाशिंगटन डीसी की अपनी तीन दिवसीय यात्रा के दौरान जयशंकर (66) अपने अमेरिकी समकक्ष टोनी ब्लिंकन, रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलीवन और बाइडन प्रशासन के अन्य महत्वपूर्ण सदस्यों से मुलाकात करेंगे।

पेंटागन के प्रेस सचिव जॉन किर्बी ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘वाशिंगटन में भारत की पहली कैबिनेट स्तरीय यात्रा के हिस्से के रूप में, शुक्रवार को रक्षा मंत्री भारत के विदेश मंत्री जयशंकर से मुलाकात करेंगे।’’

किर्बी ने कहा, ‘‘ मुलाकात के दौरान दोनों नयी दिल्ली में मार्च में हुई अपनी वार्ता को आगे बढ़ाएंगे और दोनों देशों के बीच मजबूत द्विपक्षीय रक्षा एवं सुरक्षा संबंध जारी रखने पर जोर देंगे। हम उनके पेंटागन आने और उनके साथ वार्ता करने को उत्साहित हैं।’’

विदेश मंत्रालय ने ब्लिंकन और जयशंकर के बीच फॉगी बॉटम स्थित मुख्यालय में होने वाली मुलाकात के समय के बारे में अभी जानकारी नहीं दी है। ब्लिंकन शांति प्रक्रिया आगे बढ़ाने के लिए अभी पश्चिम एशिया की यात्रा पर हैं।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया था कि दोनों नेता क्वाड के माध्यम से हिंद-प्रशांत सहयोग को मजबूत बनाने, संयुक्त राष्ट्र के साथ सहयोग और बहुपक्षीय सहयोग बढ़ाने सहित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा करेंगे।

जयशंकर यहां उद्योग जगत के लोगों से भी बातचीत करेंगे, जिसमें ‘यूएस इंडिया बिजनेस काउंसिल’ और ‘यूएस इंडिया स्ट्रेटेजिक एंड पार्टनरशिप फोरम’ द्वारा बृहस्पतिवार को आयोजत सत्र भी शामिल है।

अमेरिका में भारत के राजदूत के तौर पर दिसम्बर 2013 से जनवरी 2015 तक अपनी सेवाएं दे चुके जयशंकर कई प्रमुख अमेरिकी सांसदों से भी मुलाकात करेंगे।

वहीं, ‘इंडिया कॉकस’ के सह-अध्यक्ष ब्रैड शेर्मन ने कहा कि वह जयशंकर, अमेरिका में भारत के राजदूत तरनजीत सिंह संधू और अमेरिका-भारत संबंधों से जुड़े अन्य नेताओं से बुधवार को रात्रिभोज पर मिलने को लेकर उत्साहित हैं।