तोक्यो, 19 अप्रैल (एपी) म्यांमा के सबसे बड़े शहर यांगून में एक जापानी पत्रकार को गिरफ्तार किए जाने के एक दिन बाद, सोमवार को जापान सरकार ने म्यांमा से उसके नागरिक को रिहा करने की मांग की।

जापान के मुख्य कैबिनेट सचिव कात्सुनोबु कातो ने सोमवार को संवाददाताओं को बताया कि उनकी सरकार ने म्यांमा के प्राधिकारियों से पूछा है कि जापानी पत्रकार को गिरफ्तार क्यों किया गया ? जापान ने इस संबंध में म्यांमा से और भी जानकारियां मांगी हैं और जापानी पत्रकार को जल्द से जल्द रिहा किए जाने की मांग की है।

उन्होंने गिरफ्तार किए गए पत्रकार की पहचान उजागर नहीं की, लेकिन जापानी मीडिया ने उसकी पहचान ‘निक्केई’ समाचार पत्र के पूर्व संवाददाता और इस समय यांगून में स्वतंत्र रूप से काम कर रहे पत्रकार युकी कीताजुमी के रूप में की है।

कातो ने कहा, ‘‘हम म्यांमा में जापानी नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए हरसंभव कोशिश करते हुए उस देश से पत्रकार की शीघ्र रिहाई की मांग करना जारी रखेंगे।’’

कीताजुमी को म्यांमा में लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनों को कवर करते समय फरवरी के अंत में भी कुछ देर के लिए हिरासत में लिया गया था। जापान ने म्यांमा में सैन्य तख्तापलट की आलोचना की है, लेकिन उसने म्यांमा की सेना के सदस्यों के खिलाफ प्रतिबंध लागू करने वाले अमेरिका एवं कुछ अन्य देशों की अपेक्षा नरम रुख अपनाया है।

एपी

सिम्मी मनीषा

मनीषा