पश्चिम बंगाल में बीजेपी अध्यक्ष जे पी नड्डा के काफिले पर बुधवार को तृणमूल कांग्रेस के कथित कार्यकर्ताओं ने हमला किया जिससे नाराज भगवा दल के नेता ने कहा कि राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति पूरी तरह चरमरा गई है और यह ‘‘गुंडा राज’’ में तब्दील हो गया है.

पार्टी सूत्रों और प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि नड्डा के काफिले पर उस समय हमला हुआ जब वह पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करने डायमंड हार्बर जा रहे थे. उन्होंने कहा कि हमले में बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय सहित कई नेता घायल हो गए. बता दें कि डायमंड हार्बर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी करते हैं. हमले में नड्डा को हालांकि कोई चोट नहीं आई.

नड्डा ने बाद में पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक में कहा, ‘‘आज मैंने जो देखा वह हैरान करने वाला और अभूतपूर्व है. पश्चिम बंगाल में पूरी तरह कानून व्यवस्था की स्थिति चरमरा गई है और असिहष्णुता उत्पन्न हो गई है. प्रशासन पूरी तरह विफल हो गया है और गुंडा राज की मौजूदगी है.’’

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि उन्हें इसलिए चोट नहीं आई क्योंकि वह बुलेट प्रूफ कार में थे, लेकिन काफिले में शामिल अन्य लोग हमले की चपेट में आ गए. उन्होंने कहा कि जब इस तरह की घटना बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं के साथ हो सकती है तो पार्टी के आम कार्यकर्ता की दशा की कल्पना आसानी से की जा सकती है.

नड्डा ने कहा, ‘‘यदि मैं यहां बैठक के लिए पहुंच गया हूं तो यह मां दुर्गा के आशीर्वाद की वजह से है...मैं कल्पना कर सकता हूं कि बंगाल में पार्टी के आम कार्यकर्ता के लिए कितनी कठिनाई होगी.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमें इस गुंडा राज को हराना है और हम हराएंगे.’’

हमले में कैलाश विजयवर्गीय घायल.

बीजेपी नेता ने कहा, ‘‘तृणमूल कांग्रेस के कुशासन में राज्य काफी निचले पायदान पर पहुंच गया है.’’ नड्डा ने अभिषेक बनर्जी की तरफ इशारा करते हुए कहा कि यह लोकतंत्र के लिए शर्म की बात है कि डायमंड हार्बर के वर्तमान सांसद अपने निर्वाचन क्षेत्र में दिखाई नहीं देते हैं.

हमले में विजयवर्गीय की कार में तोड़फोड़ की गई और वह घायल भी हो गए. मीडिया के वाहनों पर भी हमला किया गया.

बंगाल बीजेपी के प्रमुख दिलीप घोष ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘जब हम डायमंड हार्बर की तरफ जा रहे थे तो तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों ने सड़क को अवरुद्ध कर दिया और नड्डा जी के वाहन तथा काफिले में शामिल अन्य कारों पर पथराव किया. इससे तृणमूल कांग्रेस का असली रंग पता चलता है.’’

घोष ने कहा कि उनकी कार में भी तोड़फोड़ की गई और सुरक्षाकर्मियों को पीटा गया. बीजेपी के राष्ट्रीय संयुक्त महासचिव (संगठन) शिवप्रकाश और सचिव अनुपम हाजरा के वाहनों को भी नुकसान पहुंचा. अफरातफरी में हाजरा घायल भी हो गए.

विजयवर्गीय ने कहा, ‘‘क्या बंगाल में कानून का शासन है? हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष के काफिले पर हमला किया जा रहा है. हमारे पार्टी कैडर और नेता घायल हैं. यह लोकतंत्र में अभूतपूर्व है.’’ वहीं घोष ने कहा, ‘‘पार्टी पश्चिम बंगाल में इस जंगलराज का खात्मा करेगी. क्या यह लोकतंत्र का संकेत है? तृणमूल कांग्रेस सरकार को इस तरह की अराजकता के लिए शर्मिंदा होना चाहिए.

पुलिस के हस्तक्षेप के बाद स्थिति नियंत्रण में आई और तब जाकर काफिले के आगे बढ़ने के लिए रास्ता खुला.