नयी दिल्ली, 28 अप्रैल (भाषा) दिल्ली में कोविड-19 से संक्रमित एक न्यायाधीश को अस्पताल में वेंटिलेटर बेड की सुविधा नहीं मिल पा रही। अदालत के सूत्रों ने बुधवार को इस बारे में बताया।

तीस हजारी अदालत परिसर में मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट नूपुर गुप्ता दिल्ली में एक अस्पताल में भर्ती हैं।

सूत्रों ने पीटीआई-भाषा को बताया कि 32 वर्षीय न्यायाधीश की हालत लगातार बिगड़ती जा रही है और उन्हें वेंटिलेटर की सख्त जरूरत है।

नूपुर गुप्ता 22 अप्रैल को संक्रमित हुई थीं और उन्होंने उपचार के लिए निजी अस्पताल का रुख किया।

सरकार के ‘दिल्ली कोरोना ऐप’ के मुताबिक शाम साढ़े चार बजे राष्ट्रीय राजधानी में वेटिलेटर के साथ सघन चिकित्सा इकाई (आईसीयू) के केवल पांच बेड ही उपलब्ध थे जबकि इस तरह के कुल 1657 बेड हैं।

दिल्ली में कोरोना वायरस के मामलों में तेज बढ़ोतरी हुई है। शहर में मंगलवार को कोविड-19 के 24,149 मामले आए तथा 381 लोगों की मौत हुई।