पीएनबी धोखाधड़ी मामले में वांछित भगोड़ा हीरा कारोबारी नीरव मोदी की ब्रिटेन में न्यायिक हिरासत 6 अगस्त तक बढ़ा दी गई है. नीरव पर यहां भारत को प्रत्यर्पण किए जाने के मामले की सुनवाई चल रही है. उल्लेखनीय है कि मोदी ने पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के साथ करीब दो अरब डॉलर की धोखाधड़ी को अंजाम दिया. इसे लेकर भारत में विभिन्न जांच एजेंसियों ने उनके खिलाफ मामले दर्ज किए हैं. इस मामले में नीरव के सहयोगी मेहुल चौकसी भी भारत में वांछित हैं.

नीरव बृहस्पतिवार को ब्रिटेन में वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत में प्रत्यर्पण मामले की वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से सुनवाई के लिए पेश हुए. पिछले साल मार्च में गिरफ्तार होने के बाद वह लंदन की वांड्सवर्थ जेल में कैद हैं.

मुख्य मजिस्ट्रेट एमा आर्बथनॉट ने नियमित 28 दिन में होने वाली इस सुनवाई के दौरान नीरव को सूचित किया कि उनकी अगली सुनवाई छह अगस्त को होगी.

नीरव के प्रत्यपर्ण मामले में दूसरे दौर की सुनवाई सितंबर से शुरू होनी है. इस मामले में पहले चरण की चार दिन की सुनवाई जिला न्यायाधीश सैमुअल गूजे की अध्यक्षता में मई में हुई. बाद में लॉकडाउन के चलते उनकी दूसरे दौर की पांच दिन की सुनवाई सात सितंबर से होना तय किया गया.

मजिस्ट्रेट आर्बथनॉट ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि सितंबर में जब अगले दौर की सुनवाई शुरू होगी तब तक जेल से आने-जाने पर लगे यह प्रतिबंध हट जाएंगे और आप खुद अदालत में मौजूद हो सकेंगे ताकि आगे की कार्रवाई हो सके. सुनवाई के दौरान जेल में नीरव को मामले से जुड़ी जानकारियां नोट करते देखा गया.