पाकिस्तान के बाएं हाथ के तेज गेंदबाज जुनैद खान ने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि पाकिस्तान टीम में उन खिलाड़ियों को अधिक मौके मिलते हैं जो कप्तान और टीम मैनेजमेंट के करीबी होते हैं. जुनैद खान ने ये भी कहा कि खिलाड़ी पाकिस्तान क्रिकेट में अपने भविष्य को लेकर असुरक्षित हैं.

बता दें कि जुनैद खान ने पाकिस्तान के लिए 22 टेस्ट, 76 ODI और 8 T20 मुकाबले खेले हैं. 190 इंटरनेशनल विकेट चटकाने वाले जुनैद को मई 2019 के बाद से पाकिस्तान टीम में जगह नहीं मिली है.  

जुनैद ने ‘cricketpakistan.com.pk’ वेबसाइट को दिए साक्षात्कार में कहा, "अगर आपके कप्तान और टीम प्रबंधन के साथ अच्छे रिश्ते हैं तो भी आपको सभी प्रारूपों में खुद को साबित करने के पर्याप्त मौके मिलेंगे." उन्होंने कहा, "अगर आपके उनके साथ करीबी रिश्ते नहीं हैं तो आप अंदर और बाहर होते रहोगे."

जुनैद को मलाल है कि लगातार अच्छा प्रदर्शन करने के बावजूद उन्हें लंबे समय तक खेलने का मौका नहीं दिया गया. उन्होंने कहा, "मैं तीनों प्रारूपों में राष्ट्रीय टीम का हिस्सा था. मैं ब्रेक की मांग करता था लेकिन मुझे आराम नहीं दिया गया. इसके बाद ऐसा समय आया जब मेरे साथ रिश्ते खराब हो गए और पसंद तथा नापसंद के कारण मेरी अनदेखी की गई. मैं प्रदर्शन कर रहा था लेकिन मुझे उचित मौके नहीं दिए गए."

जुनैद ने कहा कि चैंपियन्स ट्रॉफी 2017 में हसन अली के बाद दूसरा सबसे सफल गेंदबाज होने के बावजूद उन्हें 2019 विश्व कप की टीम से बाहर कर दिया गया जबकि उन्हें शुरुआत में टीम में जगह दी गई थी.

यह भी पढ़ेंः मराठा आरक्षण को SC ने किया खारिज, उद्धव ठाकरे बोले- 'दुर्भाग्यपूर्ण है राज्य कानून नहीं बना सकता'

यह भी पढ़ेंः फिर बढ़ने लगी पेट्रोल-डीजल की कीमत, जानें आज का भाव

यह भी पढ़ेंः कोरोना संकट के बीज RBI की बढ़ी घोषणा, जानें कैसे मिलेगा आपको फायदा