अगर कोई कोरोना से संक्रमित है और घर पर ही आइसोलेशन में है तो हो सकता है कि किसी समय उन्हें सांस लेने में कोई समस्या हो जाए. ऐसे में उन्हें घबराने की जरूरत नहीं होती है बल्कि उन्हें सरल उपाय करने की जरूरत होती है. इसकी मदद से वे खुद ही इस समस्या से बाहर आ सकते हैं, इसलिए अगर ऐसा हो तो घबराएं नहीं बल्कि एक बेहद पुरानी तकनीक से प्रोनिंग पोजिशन करें जिससे आपको राहत मिलेगी. इसके फायदों के बारे में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने भी ट्विटर पर बताया है, उन्होंने इससे जुड़ी जानकारी शेयर की है.

यह भी पढ़ेंः Health Tips: कोविड-19 के संकेत देते हैं खांसी में होने वाले ये 5 लक्षण, बरतें सावधानी

क्या होती है प्रोनिंग पोजिशन?

मिनिस्ट्री ऑफ हेल्थ एंड फैमिली वेलफेयर, द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, प्रोनिंग पोजीशन कोरोना के उन मरीजों के लिए जरूरी होता है जो होम आइसोलेशन में होते हैं. प्रोनिंग पोजीशन की मदद से कोरोना मरीजों के ब्लड में हो रहे ऑक्सीजन की गिरावट को तुरंत ठीक किया जा सकता है. हेल्थ मिनिस्ट्री ने बताया कि अगर मरीज का ऑक्सीजन लेवल (SPO2) 94 या उससे भी कम हो रहा है तो वह घर पर रहकर इस तकनीक से खुद को बचा सकते हैं. इसके लिए आपको 4 से 5 तकिया (Pillows) चाहिए, जिनमें से एक गरदन के नीचे, एक या दो छाती से लेकर अपर थाई पर और दो तकिया लोअर लेग यानी पंजों के निचले हिस्से पर रखें.

यह भी पढ़ेंः Health Tips: कोरोना से दूर रहना है तो जीवन में डाल लें ये 5 अच्छी आदतें

प्रोनिंग पोजिशन से जुड़ी बातें

- 4-5 तकिया लेकर उल्टा लेट जाएं फिर ये काम करें.

- आधे घंटे से लेकर 2 घंटे तक पेट के बल लेटकर ऐसा किया जा सकता है.

- अब आधे घंटे से लेकर 2 घंटे तक दाहिने करवट लेट जाएं.

- अब आधे घंटे से लेकर 2 घंटे तक बैठने की पोजीशन करें.

- इसके बाद आधे घंटे से 2 घंटे तक दाहिने करवट लेट जाएं.

- अब दोबारा से पेट के बल लेट जाएं, हालांकि अच्छा होगा कि आप आधे-आधे घंटे में ही अपना पोजीशन बदलते रहें.

- खाने के 1 घंटे बाद या 1 घंटा पहले ये काम करें.

- जब तक कंफर्टेबल लगे ती तक यह पोजीशन करें.

- प्रेग्नेंसी में इस पोजीशन का प्रयोग बिल्कुल नहीं करें.

- 48 घंटे बाद अगर कोई दिक्कत हो तो डॉक्टरी सलाह लें.

- मेजर कार्डियक प्रोब्लम हो तो बिल्कुल ना करें.

- स्पाइनल कॉड में इंज्यूरी, पेल्विक फ्रैक्चर हो तो नहीं करें.

यह भी पढ़ेंः कोरोना वैक्सीन लगवाने से पहले भूलकर भी ना करें ये काम, हो सकता है बड़ा नुकसान

डिस्क्लेमर: इस खबर की विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है. ये खबर रिसर्च के अध्ययन के बाद लिखा गया है. किसी भी तरह की समस्या पर आप सबसे पहले अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें.