फिल्मी की दुनिया से राजनीति के क्षेत्र में आये और मक्कल नीधि मय्यम (MNM) के संस्थापक कमल हासन ने कहा है कि जरूरत पड़ी तो राजनीतिक करियर के लिए वह फिल्म को छोड़ देंगे. उन्होंने अपनी राजनीति को जनसेवा का माध्यम करार देते हुए कहा कि यदि सिनेमा उनके राजनीतिक करियर में बाधा बनता है तो वह उसे छोड़ने को तैयार हैं.

यह भी पढ़ेंः महाराष्ट्र में मिनी लॉकडाउन में क्या रहेंगे बंद, उल्लंघन पर कितना होगा जुर्माना

उन्होंने कहा, 'यदि वे मेरे राजनीतिक करियर में बाधा बनती हैं तो मैं अपनी मौजूदा फिल्मों को पूरा करने के बाद सिनेमा छोड़ दूंगा.'

कमल हासन ने कहा कि, राजनीति में उनका आना ऐतिहासिक है क्योंकि वह उन 30 फीसद लोगों में से हैं जो राजनीति से बिल्कुल दूर रहे हैं.

यह भी पढ़ेंः मात्र 9 रुपये में पाएं LPG गैस सिलेंडर, फटाफट उठाएं मौके का फायदा, जानें कैसे?

उन्होंने कहा कि दिवंगत मुख्यमंत्री एम जी रामचंद्रन ने बतौर विधायक अपने आदर्शों का प्रचार करने एवं जनसेवा के अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिए कई फिल्मों में अभिनय किया था.

हासन ने कहा कि लेकिन यदि सिनेमा (उनके राजनीतिक करियर में) बाधा बन रहा है तो वह जनसेवा की खातिर उसे छोड़ देंगे.

यह भी पढ़ेंः क्या EPFO पर नौकरी छोड़ने की तारीख अपडेट करने में आ रही है दिक्कत? इन आसान स्टेप्स में समझें

उन्होंने कहा कि उनके कई साथी उम्मीदवार कहते हैं कि वह राजनीति से गायब हो जायेंगे और फिर से सिनेमा में आ जायेंगे.

उन्होंने कहा, 'हम देखते हैं कि कौन गायब होगा, यह तो जनता को तय करना है.'

उन्होंने कहा कि उन्हें कुछ वर्गों से धमकियां मिली हैं. हालांकि उन्होंने इसे स्पष्ट करने से इनकार कर दिया.

  यह भी पढ़ेंः कौन है फखर जमां? दक्षिण अफ्रीक के खिलाफ 193 रनों की पारी हो गई बेकार