बेंगलुरु, 19 अप्रैल (भाषा) जानेमाने कन्नड़ लेखक एवं समालोचक प्रोफेसर गंजम वेंकटसुबैया का निधन हो गया है। वह 107 वर्ष के थे। उनके पारिवारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी।

प्रख्यात लेक्सियोग्राफर (शब्दकोष लेखक) प्रोफेसर वेंकटसुबैया गुर्दे संबंधी रोग से पीड़ित थे तथा उन्हें उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। परिवार के एक सदस्य ने बताया कि उन्हें सोमवार को अस्पताल से छुट्टी मिलने वाली थी लेकिन अचानक ही उनकी तबियत बिगड़ी तथा रविवार रात को उनका निधन हो गया।

वेंकटसुबैया का जन्म 23 अगस्त 1913 को मांड्या जिले के श्रीरंगपटना के गंजम गांव में हुआ था।

पद्मश्री, कन्नड़ साहित्य अकादमी और पम्पा पुरस्कार विजेता वेंकटसुबैया ने 12 शब्दकोष तैयार किए तथा करीब 60 किताबें लिखीं।

वेंकटसुबैया के निधन पर मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा और उनके कैबिनेट सहयोगियों, पूर्व मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी तथा सिद्धरमैया ने दुख जताया।

भाषा

मानसी शाहिद

शाहिद