बेंगलुरु, 25 मई (भाषा) कर्नाटक कांग्रेस ने कोविड-19 रोधी टीकाकरण के महत्व के प्रति जागरूकता फैलाने और अपनी सौ करोड़ रुपये की योजना के तहत टीके को सीधे खरीदने के वास्ते सरकार पर दबाव बनाने के लिए मंगलवार को ‘कांग्रेस को टीका लगाने दें’ के नाम से एक ऑनलाइन अभियान की शुरुआत की।

पार्टी ने हाल ही में घोषणा की थी कि उसके सभी विधायक और सांसद अपनी क्षेत्रीय विकास निधि से सौ करोड़ रुपये देकर टीका खरीदेंगे।

सोशल मीडिया अभियान के तहत प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डी के शिवकुमार, पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धरमैया, कार्यवाहक अध्यक्ष ईश्वर खंदरे, पूर्व मंत्री आर वी देशपांडे और पार्टी के अन्य नेताओं ने वीडियो संदेश जारी कर टीकाकरण में भाजपा सरकार की “विफलता” को रेखांकित किया।

कांग्रेस ने एक विज्ञप्ति में दावा किया कि 20 हजार लोगों ने आज अभियान को समर्थन दिया तथा ट्विटर और फेसबुक पर उनके वीडियो को साझा करते हुए भाजपा सरकार से कहा कि वह कर्नाटक के लोगों के लिए कांग्रेस को सीधे तौर पर टीका खरीदने की अनुमति दे।

शिवकुमार ने कहा, “मैं कांग्रेस के कार्यकर्ताओं से अनुरोध करता हूं कि वे लोगों में जागरूकता फैलाएं कि टीकाकरण के माध्यम से कैसे कोविड से बचा जा सकता है, सरकार किस प्रकार टीका खरीदने में हीला हवाली कर रही है और कैसे कर्नाटक कांग्रेस ने सीधे टीका खरीदने का प्रस्ताव दिया है, यदि सरकार हमें यह करने की अनुमति दे।”

उन्होंने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार ने कर्नाटक को पर्याप्त मात्रा में टीका उपलब्ध नहीं कराया और इसकी बजाय टीके का निर्यात किया गया।

शिवकुमार ने कहा कि कांग्रेस अपने सौ करोड़ रुपये की योजना के लिए कटिबद्ध है और इस निधि का उपयोग उत्पादकों से सीधे टीका खरीदने और लोगों को इसकी खुराक देने के लिए किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि पार्टी ने कई बार इसके लिए सरकार से अनुमति मांगी लेकिन अभी तक इजाजत नहीं दी गई है।

भाषा यश माधव

माधव