बेंगलुरु, 22 मई (भाषा) कर्नाटक सरकार ने शनिवार को विभिन्न समूहों के लिए टीकाकरण अभियान पर स्पष्टीकरण दिया। राज्य सरकार ने यह स्पष्टीकरण टीकों की उपलब्धता और टीका लेने की आयु को लेकर लोगों के बीच कथित तौर पर भ्रम उत्पन्न होने के बाद दिया। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के निदेशक की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि शहरी क्षेत्रों में कोविशील्ड टीके की पहली खुराक 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए है, जिन्हें ऑनलाइन पंजीकरण करना होगा जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में पंजीकरण टीकाकरण स्थल पर ही किया जाएगा। जिन लोगों को कोविशील्ड की दूसरी खुराक लेनी है वे नजदीकी टीकाकरण केंद्र में जा सकते हैं और टीका लगवा सकते हैं। सरकार ने कहा कि कोवैक्सीन की पहली खुराक वर्तमान में 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को नहीं दी जा रही है। सरकार ने कहा कि जिन्हें दूसरी खुराक लेनी है उन्हें एक एसएमएस आएगा जिसमें टीकाकरण केंद्र का उल्लेख होगा। तदनुसार उन्हें उक्त कोविड टीकाकरण केंद्र तक पहुंचना होगा। .

बयान के मुताबिक, 18 से 44 वर्ष के लिए टीका फिलहाल उपलब्ध नहीं है। बयान में कहा गया है, ‘‘हालांकि, पहचाने गए राज्य कोविड अग्रिम मोर्चे के कर्मियों या जोखिम वाले समूहों और प्राथमिकता समूहों को संबंधित नोडल अधिकारियों द्वारा टीकाकरण की तारीख और समय के बारे में सूचित किया जाएगा।’’