बेंगलुरु, 23 मई (भाषा) कोविड-19 की दूसरी लहर के बीच कर्नाटक ने रेमडेसिविर की कालाबाजारी और दुरूपयोग रोकने के मकसद से उसके आवंटन एवं सूचना की एसएमएस प्रणाली शुरू की है।

स्वास्थ्य मंत्री के. सुधाकर ने रविवार को कहा, ‘‘ रेमडेसिविर के आवंटन में पारदर्शिता लाने के लिए प्रौद्योगिकी आधारित प्रणाली विकसित की गयी है और अब मरीज को एसएमएस मिलेगा कि एसआरएफ आईडी पर किसी अस्पताल को यह दवा दी गयी है।’’

उन्होंने ट्वीट में कहा, ‘‘यदि रेमडेसिविर एसआरएफ आईडी पर आंवटित की गयी है और अस्तपाल ने मरीज को दवा नहीं दी है तो इसकी रिपोर्ट सरकार को करने के लिए उसी लिंक पर एक सुविधा प्रदान की गयी है। इससे सरकार को रेमडेसिविर की कालाबाजारी एवं दुरूपयेाग रोकने में मदद मिलेगी।’’

उपमुख्यमंत्री सी. एन. अश्वथ नारायण ने ट्वीट किया, ‘‘ यदि रेमडेसिविर एसआरएफ आईडी पर आवंटित की जाती है और अस्पताल उसे मरीजों को नहीं देता है आप सरकार को उसकी रिपोर्ट कर सकते हैं। इससे दवा का दुरूपयोग घटेगा। ’’

अस्पतालों में कोविड-19 के मरीजों के उपचार के लिए रेमडेसिविर की बड़ी मांग है।