प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कर्नाटक के शिवमोगा जिले में विस्फोट से हुए जानमाल के नुकसान पर शुक्रवार को दुख जताया और कहा कि राज्य सरकार प्रभावितों को हरसंभव मदद पहुंचा रही है. शिवमोगा जिले में ट्रक में भरकर ले जाए जा रहे विस्फोटक में बृहस्पतिवार रात धमाका हो गया था जिससे कम से कम छह लोगों की मौत हो गई. धमाका इतना तेज था कि पास के चिक्कमगलुरु और दावणगेरे जिलों में भी झटके महसूस किए गए.

प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से किए गए एक ट्वीट में मोदी ने कहा, ‘‘शिवमोगा में जानमाल को हुए नुकसान से मैं दुखी हूं. पीड़ित परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं. घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं. राज्य सरकार प्रभावितों तक हरसंभव मदद पहुंचा रही है.’’

ऐसा माना जा रहा है कि विस्फोटक खनन के उद्देश्य से ले जाए जा रहे थे. विस्फोट से ट्रक के परखच्चे उड़ गए. कर्नाटक के शिवमोगा जिले में बृहस्पतिवार रात को ट्रक में भरकर ले जाए जा रहे विस्फोटक में धमाका हो गया जिससे कम से कम छह लोगों की मौत हो गई और आसपास के क्षेत्र में झटके महसूस किए गए. पुलिस ने यह जानकारी दी. माना जा रहा है कि विस्फोटक खनन के उद्देश्य से ले जाए जा रहे थे.

पत्थर तोड़ने के एक स्थान पर रात साढ़े दस बजे के लगभग धमाका हुआ जिससे न केवल शिवमोगा बल्कि पास के चिक्कमगलुरु और दावणगेरे जिलों में भी झटके महसूस किए गए. प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि विस्फोट इतना तेज था कि घरों की खिड़की के शीशे टूट गए और सड़कों पर भी दरार उत्पन्न हो गई. धमाके से ऐसा लगा जैसे भूकंप आ गया हो और भूगर्भ वैज्ञानिकों से संपर्क किया गया.

एक पुलिस अधिकारी ने कहा, “भूकंप नहीं आया था. लेकिन शिवमोगा के बाहरी इलाके में ग्रामीण पुलिस थानांतर्गत हंसुर में विस्फोट हुआ था.” एक अन्य पुलिस अधिकारी ने कहा, “जिलेटिन ले जा रहे एक ट्रक में धमाका हुआ. ट्रक में मौजूद छह मजदूरों की मौत हो गई. स्थानीय तौर पर कंपन महसूस किया गया.” उन्होंने कहा कि मृतकों की संख्या बढ़ सकती है.