पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) लंबे समय और छोटे बचत के निवेश के रूप में जाना जाता है. अगर आप प्रोविडेंट फंड (PF) में निवेश नहीं कर रहे हैं या आपके पास ये सुविधा नहीं है तो आप PPF अकाउंट खोल सकते हैं. इसमें आप अपनी जरूरत के मुताबिक, 500 रुपये से लेकर 1.5 लाख रुपये तक निवेश कर सकते हैं.

PPF अकाउंट में एक वित्त वर्ष में अधिकतम 1.5 लाख रुपये तक निवेश किया जा सकता है. इस अकाउंट की मैच्योरिटी 15 साल की होती है. आपको 15 सालों तक इस अकाउंट में अंशदान करना होगा. हालांकि, आप 5-5 साल के लिए निवेश की समय सीमा बढ़वा सकते हैं.

यह भी पढ़ेंः आपक PPF अकाउंट बंद है तो मात्र 550 रुपये में फिर शुरू करें खाता

कब और कैसे कर सकते हैं PPF से निकासी

आप अपने PPF अकाउंट से 7 साल तक निवेश करने के बाद आंशिक निकासी कर सकते हैं. इसका मतलब है कि आपको पैसों की जरूरत है तो आप अपने PPF अकाउंट से निकासी कर सकते हैं. हालांकि, निकासी के लिए आपके अकाउंट की एक्टिविटी का ध्यान रखा जाता है. अकाउंट से निकासी के लिए निकासी के पैसे आपकी चार साल की कुल राशि का 50 प्रतिशत हिस्सा या पिछले साल जमा करने वाले बैलेंस का 50 फीसदी हिस्सा हो सकता है.

यह भी पढ़ेंः Indian Oil ने ग्राहकों के लिए लॉन्च किया फाइबर LPG सिलेंडर, जानें इसकी खूबियां

PPF पर लोन की भी होती है सुविधा

आप अपने PPF अकाउंट पर लोन की सुविधा भी ले सकते हैं. हालांकि, इसके लिए आपका PPF अकाउंट 3 साल पुराना होना चाहिए. इसमें आपके जमा रकम के 25 फीसदी पैसा लोन के रूप में निकाल सकते हैं. इसके लिए आपको 2 प्रतिशत ब्याज देना होता है. लोन की राशि को चुकाने के लिए आपको 36 महीने का समय दिया जाएगा.

यह भी पढ़ेंः FD लेने जा रहे हैं तो जान लें फिक्स डिपॉजिट पर भी होती है हर महीने इनकम

PPF (Public Provident Fund) एक अकाउंट है जिसमें निवेश लंबे वक्त तक के लिए निवेश करना होता है. मौजूदा समय में इस पर करीब 7.10 प्रतिशत ब्याज दर मिल रहा है. हालांकि, इसके ब्याज को सरकार हर तिमाही तय करती है. PPF अकाउंट को आप डाकघर या किसी भी बैंक में खुलवा सकते हैं.